DA Image
14 नवंबर, 2020|6:25|IST

अगली स्टोरी

वाल्मीकि आश्रम समेत 34 मंदिरों में रामायण का अखंड पाठ

वाल्मीकि आश्रम समेत 34 मंदिरों में रामायण का अखंड पाठ

पहली बार आदिकवि महर्षि वाल्मीकि की जयंती पर वाल्मीकि रामायण के अखंड पाठ का आयोजन किया गया। शासन स्तर से निर्देश जारी होने के बाद जिला प्रशासन की देखरेख में जनपद के 34 मंदिरों में शनिवार को सुबह अखंड रामायण पाठ शुरू हुआ। डीएम शेषमणि पांडेय ने धर्मनगरी चित्रकूट के रामघाट में मत्यगजेन्द्रनाथ मंदिर पहुंचकर वाल्मीकि रामायण की विधि-विधान से पूजा कर पाठ शुरू कराया। इसके साथ ही सभी मंदिरों में वेद मंत्रों व शंख ध्वनि के साथ अखंड पाठ का आयोजन चल रहा है।

धर्मनगरी चित्रकूट के लालापुर स्थित महर्षि वाल्मीकि आश्रम में शुक्रवार को आए मुख्यमंत्री ने वाल्मीकि रामायण के अखंड पाठ की शुरुआत की थी। इसके साथ ही शासन स्तर से पूरे प्रदेश के मठ-मंदिरों में वाल्मीकि रामायण के अखंड पाठ कराए जाने के निर्देश जिला प्रशासन को दिए गए हैं। फलस्वरूप शनिवार को महर्षि वाल्मीकि की जयंती के मौके पर सुबह जिले के मंदिरों में अखंड पाठ का शुरू कराया गया है। मत्यगजेंद्र नाथ मंदिर रामघाट में अखंड रामायण तथा कथा का शुभारंभ डीएम शेषमणि पांडेय ने वाल्मीकि रामायण की विधिवत पूजा-अर्चन कर किया। इसके साथ ही डीएम ने काफी देर बैठकर कथा का श्रवण भी किया। महंत शास्त्री जी व्यास ने डीएम का माल्यार्पण व रामनामी देकर स्वागत किया। इस दौरान उप निदेशक पर्यटन आरके रावत, ईओ नगर पालिका नरेंद्र मोहन मिश्र, पर्यटन अधिकारी शक्ति सिंह, अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी यशवंत मौर्य सहित मंदिर के महंत विपिन विहारी व पुजारी प्रदीप तिवारी आदि साधू-संत मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Monolithic text of Ramayana in 34 temples including Valmiki Ashram