ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश चित्रकूटचित्रकूट में जमीन विवाद में हत्या पर पिता-पुत्र समेत चार को उम्रकैद

चित्रकूट में जमीन विवाद में हत्या पर पिता-पुत्र समेत चार को उम्रकैद

अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने जमीन विवाद में दो पक्षों के बीच हुए खूनी

चित्रकूट में जमीन विवाद में हत्या पर पिता-पुत्र समेत चार को उम्रकैद
हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटFri, 23 Feb 2024 11:55 PM
ऐप पर पढ़ें

अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने जमीन विवाद में दो पक्षों के बीच हुए खूनी संघर्ष के दौरान ोली मारकर हुई एक की हत्या मामले में सुनवाई करते हुए पिता-पुत्रों समेत चार लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने प्रत्येक दोषी को 33 हजार रुपये के अर्थदंड से भी दंडित किया है। सजा सुनाए जाने के बाद चारो दोषियों को हिरासत में लेकर जिला कारागार भेजा गया है।

राजापुर थाना क्षेत्र अतरसुई गांव के मजरा पटियन पुरवा निवासी अनंतराम यादव ने बीते 16 जून 2011 को तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बताया कि मेड़ बांधने के विवाद को लेकर उसके भाई पवन उर्फ मुन्ना को गांव के ही राममूरत यादव व उसके बेटे लवकुश यादव तथा राजभान यादव व उसके बेटे ज्ञान सिंह ने गोली मारकर हत्या कर दी। इसके अलावा अन्य लोगों को विवाद के दौरन लाठी व कुल्हाड़ी लगने से गंभीर चोटें आई। पुलिस ने नामजद मुकदमा दर्ज कर तत्कालीन एसआई नंदलाल सिंह ने विवेचना किया। अपर जिला शासकीय अधिवक्ता अजय सिंह ने बताया कि 22 जून 2011 को पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार किया। जिसमें राममूरत यादव के कब्जे से घटना में प्रयुक्त तमंचा, कारतूस तथा कुल्हाड़ी बरामद की गई थी। पुलिस ने 21 अगस्त 2011 को न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल किया। कोर्ट ने अभियोजन व बचाव पक्ष के अधिवक्ताओं की दलीलें सुनने के बाद चारो नामजद आरोपितों को दोष सिद्ध करार देते हुए सजा सुनाई।

दूसरे पक्ष के सगे भाइयों को पांच-पांच साल की सजा

न्यायालय ने इसी घटना में दूसरे पक्ष के दो लोगों को भी पांच-पांच साल की सजा सुनाई है। बताते हैं कि जमीनी विवाद में संघर्ष के दौरान दोनों पक्ष से लोग घायल हुए थे। हत्या में दोषी मिले राममूरत यादव की तहरीर पर पुलिस ने सगे भाइयों रामहरीश यादव व अनंतराम यादव के खिलाफ हत्या का प्रयास व मारपीट का नामजद मुकदमा दर्ज किया था। तत्कालीन एसआई दीनानाथ पांडेय ने विवेचना करते हुए 29 अक्टूबर 2011 को न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल किया। कोर्ट ने सुनवाई करते हुए सगे भाइयों रामहरीश व अनंतराम यादव को पांच-पांच वर्ष के कारावास व सात-सात हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें