अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं हुआ था अपहरण, खुद घर से भागा था छात्र

नहीं हुआ था अपहरण, खुद घर से भागा था छात्र

रविवार की दोपहर में घर से अचानक लापता छात्र कैलाश महोबा रेलवे स्टेशन में मिला। उसका किसी ने अपहरण नहीं किया था। बल्कि पढ़ाई में कमजोर होने के कारण वह खुद घर से भाग गया था। उसने घर वालों को फोन पर गुमराह करने का भी भरसक प्रयास किया। पुलिस का दावा है कि सर्विलांश के जरिए छात्र की लोकेशन उसके फोन से मिलती रही।

भरतकूप चौकी क्षेत्र के पतौड़ा बरछा पुरवा निवासी कैलाश यादव पुत्र राजेश यादव अपने बाबा छोटेलाल यादव के घर पर वन विभाग कालोनी कर्वी में रहता है। उसका बाबा छोटेलाल यादव वन विभाग में वन रक्षक के पद पर तैनात है। कैलाश का छोटा भाई भी यहीं पर रहता है। वह सेठ मूलचंद्र विद्या मंदिर में कक्षा आठ का छात्र है। रविवार की दोपहर में कैलाश घर से सब्जी लेने के लिए निकला था। इसके बाद वह घर नहीं पहुंचा। बल्कि लापता हो गया। इधर कैलाश के अपरहण की सूचना ने प्रशासन में हड़कंप मचा दिया। आनन-फानन में पुलिस सक्रिय हुई। कैलाश के फोन पर पुलिस अधिकारियों की बात भी हुई। पुलिस ने उसके फोन को सर्विलांश में लगाकर उसकी लोकेशन लेनी शुरू की। प्रभारी निरीक्षक कर्वी अनिल सिंह ने बताया कि उनकी छात्र से खुद बात हुई। वह इलाहाबाद-झांसी पैसेंजर से दोपहर को भाग गया था। इसके बाद वह महोबा में उतर गया। सर्विलांश से लोकेशन मिलने के बाद महोबा पुलिस से संपर्क किया गया। खुद महोबा एसपी रेलवे स्टेशन पहुंचे। उसकी फोटो से एसपी ने हुलिया की मिलान कराई। इसके बाद सूचना मिलने पर यहां से दरोगा दयालदास पहुंचे। सोमवार की सुबह छात्र को लेकर वापस पुलिस कर्वी आई। बताया कि कैलाश गणित में काफी कमजोर है। जिसकी वजह से कहीं भागना चाह रहा था। किसी ने उसका अपहरण नहीं किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Had not been kidnapped student ran away from home