DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाहाबाद में बनीं थी गंगा-कावेरी एक्सप्रेस डकैती की योजना

इलाहाबाद में बनीं थी गंगा-कावेरी एक्सप्रेस डकैती की योजना

दस दिन पहले गंगा-कावेरी एक्सप्रेस में पड़ी ड़कैती की साजिश इलाहाबाद के एक होटल में बनीं थी। मास्टर माइंड लूलू पटेल ने गैंग के साथियों को बुलाकर यहीं एक कमरे में गोपनीय तरीके से रणनीति बनाई थी। तय रणनीति के तहत ही गैंग के दो शातिर सतना स्टेशन से टे्रन में सवार हुए थे। इसके बाद पनहाई रेलवे स्टेशन के पास घनघोर जंगल में चैनपुलिंग के जरिए टे्रन को रोका था। पहले से मौजूद गैंग के सभी शातिर ट्रेन रूकते ही स्लीपर बोगियों में टूट पड़े थे।

बुधवार को आईजी जीआरपी वीआर मीना ने मानिकपुर में ड़कैती कांड का पूरा खुलासा किया। बतया कि गैंग का मास्टर माइंड लूलू पटेल निवासी बरगढ़ कम उम्र से ही टे्रनों में चोरी, छिनैती व लूट को अंजाम देता रहा है। उसने गंगा-कावेरी एक्सप्रेस को लूटने के लिए पहले से ही योजना तैयार की थी। काफी प्रयास के बाद उनकी टीमें इस मास्टर माइंड तक पहुंच पाई। बताया कि शातिरों ने काफी पहले से ही टे्रन में ड़कैती के लिए योजना बनानी शुरू की थी। बीते 29 अगस्त की रात्रि लूलू पटेल ने इलाहाबाद के एक होटल में कमरा बुक कराया था। जिसमें सभी शातिरों ने पहुंचकर ट्रेन ड़कैती को लेकर योजना बनाई। इसमें शातिरों ने रेलवे के प्वाइंट्समैन कुबेर सिंह का भी सहारा लिया। गंगा-कावेरी एक्सप्रेस सतना से चलने के बाद सीधे इलाहाबाद में रूकती है। बीच में इसका स्टापेज न होने के कारण ट्रेन को रोकने के लिए योजना के अनुसार गैंग के दो शातिर सतना स्टेशन दो सितंबर की शाम को ही पहुंच गए थे। रात में ट्रेन आने पर दोनों शातिर इसमें सवार हुए। इधर लूलू पटेल अन्य शातिरों के साथ पनहाई स्टेशन के करीब घनघोर जंगल में छिपा था। जैसे ही टे्रन पनहाई रेलवे स्टेशन से आगे बढ़ी, वैसे ही उसमें सवार दोनों शातिरों ने चैन पुलिंग करके टे्रन को रोककर बोगियों के गेट खोल दिए। टे्रन के रूकते ही पहले से छिपे सभी शातिर स्लीपर बोगियों में चढ़कर लूटपाट करने लगे। आईजी के मुताबिक वारदात को अंजाम देने में 10 शातिरों के नाम फिलहाल सामने आए है। जिनमें छह लोग गिरफ्तार कर लिए गए है। जबकि मास्टर माइंड लूलू पटेल समेत चार शातिर फरार हो गए है। इनकी तलाश में टीमें लगी हुई है।

लूलू को पकड़ने पर आदित्य ने मारा था चाकू

आईजी ने बताया कि पूंछतांछ के दौरान शातिरों ने वारदात को अंजाम देने की पूरी घटना को स्वीकार करते हुए महत्वपूर्ण जानकारियां दी। बताया कि लूटपाट के दौरान शातिर धर्मेन्द्र को यात्रियों ने पकड़ लिया था। उसे छुड़ाने के लिए मास्टर माइंड लूलू पटेल ने पकड़ने वाले यात्री को चाकू मार दिया था। इसके बाद यात्रियों को ड़राने के लिए चाकू के प्रहार किए गए।

पुलिस वाहन का सायरन सुनकर भागे थे शातिर

वारदात को अंजाम देने वाले शातिरों ने जीआरपी को बताया कि लूटपाट के दौरान ही हवाई फायर की आवाज सुनाई दी। इसके कुछ ही देर में पुलिस गाडियों का सायरन बजा। यह सुनकर लूलू पटेल ने आवाज लगाई कि सभी लोग जल्दी भागो, पुलिस आ रही है। इतना सुनते ही सभी शातिर पत्रकार का पुरवा की तरफ भाग निकले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Ganga-Kaveri Express robbery planned in Allahabad