ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश चित्रकूटचित्रकूट में चुनावी नतीजों पर रही निगाहें, कांग्रेस आखिरी दौर में हारी

चित्रकूट में चुनावी नतीजों पर रही निगाहें, कांग्रेस आखिरी दौर में हारी

सीमा से सटे एमपी में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना पर रविवार को धर्मनगरी...

चित्रकूट में चुनावी नतीजों पर रही निगाहें, कांग्रेस आखिरी दौर में हारी
हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटSun, 03 Dec 2023 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सीमा से सटे एमपी में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना पर रविवार को धर्मनगरी चित्रकूट के लोगों की खास नजरें गड़ी रही। दिन भर लोगों ने टीवी के साथ ही मोबाइल पर चक्रवार परिणाम जानने के लिए उत्साहित नजर आए। एमपी की चित्रकूट विधानसभा सीट से लगातार दो बार जीते कांग्रेस से निवर्तमान विधायक नीलांशु चतुर्वेदी आखिरी दौर में चुनाव हार गए। इसके साथ ही वह हैट्रिक लगाने से भी चूक गए।

एमपी की धर्मनगरी चित्रकूट विधानसभा सीट में लगातार दो बार से कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी जीते है। कांग्रेस ने उनको लगातार तीसरी बार चुनावी मैदान में उतारा है। एमपी में भले ही भाजपा की सरकार रही हो, लेकिन कांग्रेस ने चित्रकूट सीट को अपना गढ़ बना लिया था। इस बार कांग्रेस से निवर्तमान विधायक नीलांशु चतुर्वेदी पूरी मजबूती के साथ चुनाव लड़े है। रविवार को सुबह सतना मुख्यालय में मतगणना की शुरुआत हुई। धर्मनगरी चित्रकूट में इस महत्वपूर्ण सीट की चक्रवार स्थिति जानने के लिए साधू-संतों से लेकर राजनीतिक गलियारा व आम लोग बहुत ही उतावले नजर आए। शुरुआत में पहले चक्र से ही कांग्रेस प्रत्याशी नीलांशु चतुर्वेदी बढ़त बनाए हुए थे। वह 11 वें चक्र तक भाजपा प्रत्याशी सुरेन्द्र सिंह गहरवार से 1943 वोटों से आगे रहे। इसके बाद भाजपा ने बढ़त बनानी शुरु की। फलस्वरूप 12 वें चक्र में 30 एवं 13 वें चक्र में केवल तीन वोट का अंतर रह गया। आखिरकार भाजपा प्रत्याशी 14 वें चक्र से आगे हुए और 772 वोटों की बढ़त बना ली। फिर लगातार भाजपा का पलडा भारी होता गया। हर चक्र में भाजपा बढ़त बनाती चली गई और कांग्रेस प्रत्याशी पीछे खिसक गए। 18 वें चक्र में भाजपा प्रत्याशी सुरेन्द्र गहरवार कांग्रेस प्रत्याशी निवर्तमान विधायक नीलांशु चतुर्वेदी से 6872 मतों से आगे निकल चुके थे। देखा जाए तो कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी हैट्रिक लगाने से चूक गए, वहीं भाजपा के सुरेन्द्र गहरवार ने अपनी पुरानी हार का हिसाब भी चुकता कर लिया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें