DA Image
23 अक्तूबर, 2020|5:22|IST

अगली स्टोरी

कोरोना संक्रमण की वजह से दीपदान मेला रहेगा प्रतिबंधित

कोरोना संक्रमण की वजह से दीपदान मेला रहेगा प्रतिबंधित

लगातार कोरोना संक्रमण की वजह से सात बार से अमावस्या मेला स्थगित चल रहा है। अब दीपदान मेले को भी एमपी प्रशासन ने स्थगित करते हुए प्रतिबंधित कर दिया है। लोगों को स्पष्ट तौर पर सलाह दी गई है कि वह कोरोना संक्रमण को देखते हुए दीपदान मेले में चित्रकूट न आएं। बल्कि घरों में ही रहकर पूजा-पाठ कर दीपदान करें। इस तरह से पांच दिवसीय दीपदान मेले पर भी कोरोना का ग्रहण लग गया है।

बुधवार को सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया के निर्देश पर एसडीएम मझगवां हेमकरण धुर्वे ने साधु-संतों एवं नगरवासियों के साथ भरत घाट चित्रकूट में बैठक की। एसडीएम ने कहा कि नवंबर में दीपावली मेला उत्सव को प्रशासन स्तर से स्थगित कर दिया गया है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते इस वर्ष मेला आयोजित नहीं किया जाएगा। लोग दीपावली मेले के लिए धर्मनगरी प्रस्थान न करें। सतना प्रशासन मध्यप्रदेश की तरफ से किसी को भी चित्रकूट मध्य प्रदेश की सीमा में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही शरद पूर्णिमा मेला, नवरात्र में गरबा महोत्सव आदि सामूहिक आयोजन भी पूर्णता प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। बैठक में नायब तहसीलदार ऋषि नारायण सिंह, भाजपा मंडल अध्यक्ष राव प्रबल श्रीवास्तव, नगर पंचायत चित्रकूट के सीएमओ रमाकांत शुक्ला, जेई विद्युत विभाग आनंद त्रिपाठी, पूर्वी मुखारविंद के भारत शरण रामायणी, पूर्व पार्षद रवि माला सिंह, विनीता शिवहरे, कंचन सेन आदि मौजूद रहे। उधर,धर्मनगरी के संतों ने एमपी प्रशासन की ओर से दीपदान मेला को आयोजित बैठक का बहिष्कार किया। आक्रोश जताते हुए कहा कि निरंतर चित्रकूट के विकास के लिए की जा रही उपेक्षा से स्थानीय जनमानस पीड़ित है। संत समाज ने इस बात पर आपत्ति जताई है कि इतने बड़े मेले के स्थगन के लिए सतना प्रशासन व एमपी सरकार चिंतित दिखाई देती है। लेकिन चित्रकूट की स्थानीय समस्याओं को प्रशासन गंभीरता से नहीं ले रहा है। सिर्फ प्रत्येक माह शासकीय खानापूर्ति की बैठक लोगों को भ्रमित करने के लिए आयोजित की जा रही हैं। पंजाबी भगवान मंदिर के महंत राजकुमार दास महाराज ने कहा कि चित्रकूट में स्थानीय स्तर पर विभिन्न समस्याएं वर्षों से हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Deepdan fair will remain banned due to Corona infection