Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश चित्रकूटशाम होते ही घरों की कुंडियां खटखटाते हैं दावेदार

शाम होते ही घरों की कुंडियां खटखटाते हैं दावेदार

हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटNewswrap
Wed, 07 Apr 2021 04:03 AM
शाम होते ही घरों की कुंडियां खटखटाते हैं दावेदार

चित्रकूट। हिन्दुस्तान संवाद

पंचायत चुनाव में मैदान पर उतर रहे दावेदार अपने समर्थकों के साथ गांवों में जनसंपर्क करने में जुटे हैं। सुबह से लेकर देर रात तक मतदाताओं को अपने पाले में लाने के हर तरह से प्रयास किए जा रहे हैं। इन दिनों किसान और मजदूर खेत-खलिहानों में काम कर रहे हैं। फसल कटाई का सीजन होने की वजह से दिन में ज्यादातर घरों में ताले लटकते नजर आते हैं।

देर शाम ही लोग खेत-खलिहानों से वापस घर लौटते हैं। ऐसे में दिन के समय दावेदारों व उनके समर्थकों को खेत-खलिहानों में लोगों से जाकर संपर्क साधना करना पड़ रहा है। लेकिन ज्यादातर दावेदार शाम होने के बाद देर रात तक लोगों के घर पहुंचते हैं। कुंडियां बजाकर लोगों को जगाते हैं। पंचायत चुनाव के मैदान में आने वाले दावेदार अपने समर्थकों के साथ तेजी से जन संपर्क में जुटे हैं। सुबह होते ही दावेदार खुद के प्रचार में जुट जाते हैं। ऐसे में मतदाता को अपने पक्ष में लाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। मतदाता ने कोई समस्या दावेदार के सामने बता दी तो वह तत्काल में पूरी करने के प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में कुछ शरारती तत्व बेवजह की समस्या बताकर दावेदारों का शोषण करने में पीछे नहीं हैं। लेकिन दावेदारों को इस तरह से चुनावी बुखार चढ़ा है कि वह हर तरह से चुनाव जीतने के लिए मतदाताओ की हर ख्वाहिश पूरा करने में पीछे नहीं हैं। गांवों में ज्यादातर लोग खेत खलिहानों में चले जाते हैं। ऐसे में वहां भी दावेदार पहुंचकर मतदाताओं को रिझाने के प्रयास करते हैं। जिसके लिए मतदाताओं को खाने पीने की सामग्री देने के साथ सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने का भरोसा दिया जा रहा है। इसके अलावा कुछ ऐसे दावेदार हैं जो खेत खलिहानों में जाकर मतदाता के घर लौटने पर रात में घरों की कुंडियां बजाकर नींद से जगाते है। इसके बाद खुद का समर्थन करने की अपील कर रहे हैं। वहीं कुछ ऐसे दावेदार हैं जो नामांकन करके चिह्न आवंटन के इंतजार में है। इसके बाद वह अपना प्रचार अभियान शुरू करने की तैयारी में है। हालांकि हर मतदाता हर दावेदार को समर्थन देने के दावे कर रहे हैं। जिससे दावेदारों के उत्साह में कमी नहीं है।

epaper

संबंधित खबरें