DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › चित्रकूट › बढ़े मानदेय से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां संतुष्ट नहीं
चित्रकूट

बढ़े मानदेय से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां संतुष्ट नहीं

हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटPublished By: Newswrap
Thu, 16 Sep 2021 05:22 AM
चित्रकूट। संवाददाता
 प्रदेश सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में डेढ़ हजार रुपए मासिक...
1 / 2चित्रकूट। संवाददाता प्रदेश सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में डेढ़ हजार रुपए मासिक...
चित्रकूट। संवाददाता
 प्रदेश सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में डेढ़ हजार रुपए मासिक...
2 / 2चित्रकूट। संवाददाता प्रदेश सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में डेढ़ हजार रुपए मासिक...

चित्रकूट। संवाददाता

प्रदेश सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में डेढ़ हजार रुपए मासिक इजाफा किया है। इससे वह फिलहाल संतुष्ट नहीं है। वह मौजूदा समय पर महंगाई को देखते हुए कम से कम दस हजार मासिक मानदेय किए जाने की उम्मीद कर रही थीं। कई वर्ष से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां मानदेय बढ़ाने को लेकर लड़ाई लड़ रही हैं। महंगाई को देखते हुए वह 18 हजार रुपए मासिक मानदेय को लेकर आंदोलनरत हैं। फिर भी उनका कहना है कि सरकार ने जो भी बढ़ाया है, उसे वह स्वीकार तो कर लेंगी, लेकिन उनकी लड़ाई अभी जारी रहेगी। सम्मानजनक मानदेय न मिलने तक वह आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगी। वर्ष 2017 से वह आंदोलन कर रही हैं। पिछले साल सरकार ने नौ हजार रुपए मानदेय मान लिया था। इसके लिए कमेटी गठित हुई थी। कमेटी ने प्रस्ताव भी दिया था। लेकिन शासनादेश नहीं निर्गत किया गया।

ऊषा द्विवेदी बोलीं कि सरकार का रवैया बिल्कुल ठीक नहीं है। सरकार ने उनका सम्मानजनक मानदेय भी नहीं बढ़ाया है। बढ़ोत्तरी को स्वीकार करते हुए आगे आंदोलन करेंगे। सावित्री सिंह बोलीं कि उम्मीद लगाए थे कि कम से कम 10 हजार रुपए मानदेय हो जाएगा। लेकिन उनकी उम्मीदों पर सरकार ने पानी फेरा है। अपनी मांग को लेकर लगातार संघर्ष करेंगे।

संबंधित खबरें