DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शासन के मंशा के अनुरुप होना चाहिए कार्य: मंडलायुक्त

शासन के मंशा के अनुरुप होना चाहिए कार्य: मंडलायुक्त

अधिकारियों के उपस्थिति में जनसमस्याओं का निपटारा कराने के उद्वेश्य से शासन द्वारा आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस कारगार साबित होती नहीं दिखाई दे रही है। मंगलवार को जिले के पांचों तहसील में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में कुल 358 प्रार्थना पत्रों में मात्र 25 फरियादियों के मामलों का ही निस्तारण किया जा सका। जबकि सदर तहसील में डीएम-एसपी व अन्य तहसीलों में एसडीएम मौजूद रहे। यहीं नहीं दोपहर करीब एक बजे अचानक मुगलसराय तहसील पहुंचे मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने अधिकारियों को कर्तब्यों के निर्वहन करने का पाठ पढ़ाया।

सदर तहसील सभागार में डीएम नवनीत सिंह चहल की देखरेख में कुल 91 प्रार्थना पत्रों से मात्र दो का ही निस्तारण किया जा सका। शेष प्रार्थना पत्रों को संबंधित अधिकारियों को सौंप डीएम ने एक सप्ताह में रिपोर्ट प्रेषित करने का निर्देश दिया। डीएम ने कहा कि जनसमस्याओं का निस्तारण शासन की प्राथमिकताओं में है। इसलिए सभी अधिकारी रूचि लेकर समस्याओं का निस्तारण कराएं। इसमें पारदर्शिता, गुणवत्ता एवं समयबद्धता का विशेष ख्याल रखा जाए। इस दौरान एसपी संतोष कुमार सिंह, एसडीएम सदर अभिषेक गोयल, सीडीओ डॉ. अभय कुमार श्रीवास्तव, जिला विकास अधिकारी पद्मकान्त शुक्ल समेत अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। नियामताबाद प्रतिनिधि के अनुसार मुगलसराय तहसील सभागार में तहसीलदार लालता प्रसाद की देखरेख में पड़े 91 प्रार्थना पत्रों से मात्र तीन का निस्तारण हुआ। इस दौरान करीब एक बजे वाराणसी के मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने सम्पूर्ण समाधान दिवस का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने अधीनस्थों से आए प्रार्थना पत्रों के बाबत जानकारी ली, साथ ही जल्द निस्तारण का आदेश दिया। इस मौके पर सीओ त्रिपुरारी पांडेय, बीडीओ रक्षिता सिंह, बीईओ सुरेश सिंह, रजिस्ट्रार कानूनगो श्याम सुंदर गुप्ता, विष्णु गुप्ता, त्रिलोकीनाथ आदि मौजूद रहे। सकलडीहा प्रतिनिधि के अनुसार एसडीएम राम सजीवन मौर्य और तहसीलदार नुपूर सिंह की देख रेख में कुल पड़े 111 प्रार्थना पत्रों में से 10 मामलों का मौके पर निस्तारण किया गया। इस मौके पर सीओ प्रदीप सिंह चंदेल, नायब तहसीलदार बृजेश सिंह, बीडीओ गुलाब चन्द्र सोनकर, पूर्ति निरीक्षक अमित द्विवेदी, एबीएसए सुरेंद्र बहादूर सिंह, केके मिश्रा, कोतवाल तेजबहादूर सिंह आदि अधिकारी मौजूद रहे। नौगढ़ प्रतिनिधि के अनुसार एसडीएम विजय नरायन सिंह की अध्यक्षता में ब्लाक सभागार में कुल पड़े 40 प्रार्थना पत्रों में से 8 मामलों का निस्तारण किया गया। इस मौके पर तहसीलदार आनंद कुमार कन्नौजिया सहित विभागीय अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। चकिया प्रतिनिधि के अनुसार तहसील सभागार में एसडीएम प्रदीप कुमार की देखरेख में कुल पड़े 25 प्रार्थना पत्रों से मात्र दो का ही निस्तारण किया गया। इस मौके पर सीओ कुंवर प्रभात सिंह, तहसीलदार शैलेंद्र कुमार सहित कई विभागो के अधिकारी मौजूद रहे।

नही पहुंचे कमिश्नर और आईजी

सकलडीहा। तहसील सभागार में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस पर सुबह 10 बजे के बाद कमिश्नर और आईजी के आने की सूचना मिली। इसको देखते ही अधिकारी व कर्मचारी हरकत में आ गये। लेकिन घंटों इंतजार के बाद भी अधिकारी नहीं पहुंचे।

एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

सकलडीहा। संपूर्ण समाधान दिवस पर कस्बावासियों ने एसडीएम को मांग पत्र सौपकर नाला की सफाई कराने के साथ ही पूरे कस्बा में सफाई कराने की मांग की। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि नागेपुर कस्बा की दो बड़ी गढ़ई कुछ लोगों द्वारा पाट दिया गया है। इसके साथ ही दो मुख्य बाहा कूड़ा करकट से पटा है। एसडीएम राम सजीवन मौर्य ने जल्द समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया है। मांग पत्र सौपने वालों में समाज सेवी सेचन सिंह यादव, बबलू भारती, प्रेमशंकर रस्तोगी आदि रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Works should be done as per government policy