ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश चंदौलीमहिलाओं ने मनरेगा में सौ दिनों की काम देने को लेकर हुई मुखर

महिलाओं ने मनरेगा में सौ दिनों की काम देने को लेकर हुई मुखर

सकलडीहा विकास खण्ड कार्यालय पर मंगलवार को दर्जनों मनरेगा महिला मजदूरों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान 100 दिन के काम की मांग...

महिलाओं ने मनरेगा में सौ दिनों की काम देने को लेकर हुई मुखर
हिन्दुस्तान टीम,चंदौलीWed, 15 May 2024 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

सकलडीहा, हिन्दुस्तान संवाद । सकलडीहा विकास खण्ड कार्यालय पर मंगलवार को दर्जनों मनरेगा महिला मजदूरों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान 100 दिन के काम की मांग उठाई। प्रदर्शनकारी महिलाओं का आरोप है कि दो साल में मात्र हमलोगों को 13 दिन ही काम मिला है। ऐसे में घर की माली हालत काफी खराब हो गई। शिकायत के बाद भी काम नही मिला। जिसपर विरोध प्रदर्शन का सहारा लेना पड़ा है। ब्लाक पर मनरेगा महिला बीडीओ ने डिमांड के आधार पर काम देने का आश्वासन दिया।
साल के 365 दिन मे 100 दिन मनरेगा मजदूरों को काम अनिवार्य रूप से देना है। गांव में काम न मिलने की दशा में इनको निवास स्थल से आठ किमी के दायरे में जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत, ग्राम पंचायत में काम देना होगा। लेकिन विडम्बना यह है कि बलारपुर गांव की मनरेगा महिला मजदूरों को 100 दिन का काम छोड़िए दो साल में मात्र 13 दिन ही काम मिल पाया है। इससे इनकी आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई। घर परिवार का खर्च चलाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इससे नाराज दर्जनो मनरेगा महिला मजदूरों ने ब्लाक पर पहुंच प्रदर्शन किया। मनरेगा मजदूर खिताबी देवी ने कहा कि काम न मिलने से घर परिवार चलाना काफी मुश्किल हो गया है। वही निर्मला देवी ने कहा कि 100 दिन का काम देने का सरकार दावा करती है।लेकिन दो साल में मात्र 13 दिन ही काम दिया गया है। महिलाओं ने आरोप लगाया कि ग्राम पंचायत और क्षेत्र पंचायत के कार्य चिन्हित ठेकेदारों के माध्यम से कराकर मनरेगा मजदूरों के पेट पर लाठी मारा जा रहा है। इस संबंध में बीडीओ केके सिंह ने बताया कि डिमांड के आधार पर 100 दिन का काम दिया जाएगा। यदि ग्राम पंचायत में काम नही है तो आठ किमी के दायरे में काम उपलब्ध कराया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें