DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनपद में स्थापित होंगे लघु व सूक्ष्म उद्योग

लघु सूक्ष्म व मध्यम उद्योग के निदेशक आरके राय ने मंगलवार को कलक्ट्रेट में अधिकारियों संग बैठक की। इसमें नीति आयोग की ओर से अतिपिछड़ा घोषित जनपद में लघु व सूक्ष्म उद्योगों की स्थापना को लेकर चर्चा की गई। एमएसएमई निदेशक ने अधिकारियों से विकास कार्योँ व उद्योगों की संभावनाओं के बाबत जानकारी ली। वहीं नीति आयोग के निर्देशों व पहल से अवगत भी कराया। 

निदेशक ने जनपद में लघु व सूक्ष्म उद्योगों की स्थिति, जिला उद्योग व उद्यम प्रोत्साहन केंद्र, एक जिला एक उत्पादन के तहत चुने गए जरी जरदारी उद्योग की प्रगति आदि के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली। वहीं एमएसएमई केंद्र नई दिल्ली की ओर से संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने प्रोजेक्टर पर पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के जरिए योजनाओं की जानकारी दी। वहीं योजनाओं को जनपद में लागू करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि सम्बंधित विभाग आपस में समन्वय स्थापित कर कार्य करें। इससे तेजी से कार्यों को सम्पादित करने में सहूलियत होगी। उद्योग के जरिए अतिपिछड़े जिले का तेजी से विकास किया जा सकता है। इससे जनपदवासियों को रोजगार मिलेगा।

वहीं लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। कहा कि जिला अग्रणी बैंकों के माध्यम से स्वरोजगार के इच्छुक युवाओं को कर्ज दिलाया जाना चाहिए। वहीं समय-समय पर प्रशिक्षण देकर हुनरमंद भी बनाया जाए। इससे युवाओं के भीतर स्वरोजगार के प्रति ललक पैदा होगी। बैठक में सीडीओ डा. अभय कुमार श्रीवास्तव, एमएसएमई वाराणसी के डिप्टी डायरेक्टर वीके वर्मा, उद्योग उपायुक्त गौरव मिश्रा सहित सम्बंधित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Small and micro enterprises will be established in district