DA Image
3 अगस्त, 2020|12:41|IST

अगली स्टोरी

अब कोरोना योद्धा ही होने लगे संक्रमित

अब कोरोना योद्धा ही होने लगे संक्रमित

जुलाई माह में कोरोना का कहर अपने पूरे रौब में रखा। एक महीने में ही कुल आंकड़ा 158 से बढ़कर लगभग 900 तक पहुंच गया। एक महीने में ही कुल 698 कोरोना पॉजिटिव मिले। इसमें प्रवासियों की अपेक्षा स्थानीय लोगों व सरकारी कर्मचारियों में कोरोना का संक्रमण अधिक मिला। आलम यह रहा कि कोरोना से जंग लड़ने वाले योद्धा खुद तेजी से संक्रमित हो रहे हैं। जुलाई माह में 35 पुलिसकर्मी व 37 स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित मिले। ऐसे में कोरोना महामारी को रोकना चुनौती बन गई है। जिले में 13 मई को पहला कोरोना पॉजिटिव मामला सामने आया था। इसके बाद लगभग एक महीने तक प्रवासी कामगारों में ही कोरोना संक्रमण मिल रहा था। लेकिन जुलाई माह की शुरुआत के साथ ही जहां संक्रमण की रफ्तार तेज हो गई, तो वहीं स्थानीय लोगों व सरकारी महकमे में तेजी से कोरोना फैलने का सिलसिला शुरू हो गया। जून माह के अंत तक कुल आंकड़ा 158 तक ही था। इसमें अधिकांश प्रवासी कामगार कोरोना पॉजिटिव रहे। लेकिन जुलाई माह की शुरुआत के साथ ही अप्रत्याशित ढंग से कोरोना संक्रमण की रफ्तार देखने को मिली। एक जुलाई से लगातार प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव मिलने का सिलसिला जारी है। एक दिन भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार नहीं थमी। कोरोना महामारी रोकने में स्वास्थ्य व पुलिस विभाग की अग्रणी भूमिका है। इन दोनों विभाग के कर्मचारी रात-दिन कोरोना महामारी को रोकने और लोगों के बचाव के लिए जंग लड़ रहे हैं। लेकिन जुलाई माह में पुलिस व स्वास्थ्य विभाग में भी तेजी से कोरोना की घुसपैठ देखने को मिली। स्वास्थ्य विभाग में सबसे पहले ब्लड बैंक का कर्मचारी संक्रमित मिला। इसके बाद जिला अस्पताल समेत कई सीएचसी व पीएचसी में डॉक्टर व चिकित्साकर्मी संक्रमित मिल चुके हैं। वहीं पुलिस विभाग में सबसे पहले सदर कोतवाली में कार्यरत दरोगा की कोरोना से वाराणसी में मौत की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस लाइन, सीओ कार्यालय व कई थाने के पुलिसकर्मी कोरोना की जद में आ चुके हैं। यहां तक कि सीओ सकलडीहा कार्यालय, सैयदराजा थाना, धीना थाना, कमालपुर व महुंजी चौकी को सील तक करना पड़ा। रेलवे में तेजी से बढ़ता संक्रमण कोरोना महामारी के बीच लोगों के आवागमन के लिए रेल की यात्रा जारी है। शासन के निर्देश पर कुछ विशेष ट्रेनों का परिचालन कराया जा रहा है। रेलवे में भी तेजी से कोरोना संक्रमण की रफ्तार देखने को मिल रही है। सबसे पहले लोको पायलट में कोरोना संक्रमण का मामला सामने आया था। लोको पायलटों के अलावा डीआरएम आफिस, कैरेज विभाग, प्लांट डिपो कारखाना, लोको मंडलीय अस्पताल आदि रेलवे के विभागीय कर्मचारियों में संक्रमण मिल रहा है। जुलाई माह में कुल 46 रेलकर्मी कोरोना पॉजिटिव मिले। जुलाई में बना नया रिकार्ड जिले में जुलाई माह में कोरोना संक्रमण का नया रिकॉर्ड भी कायम हुआ। 15 जुलाई को अप्रत्याशित ढंग से कुल 101 कोरोना पॉजिटिव मिलने से खलबली मच गई। इसके साथ पूर्वांचल में एक दिन में सर्वाधिक कोरोना पॉजिटिव चंदौली में मिलने का नया रिकॉर्ड कायम हो गया था। वर्तमान में औसतन प्रतिदिन 30-35 कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। इसके अलावा बैंक, नगर निकाय, डीपीआरओ समेत अन्य सरकारी विभागों और व्यापारियों व आमजन में संक्रमण मिल रहा है। कोरोना महामारी को रोकने का हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। लोगों को कोरोना बचाव के लिए जागरूक होने के साथ ही गाइड लाइन का पालन करना चाहिए। सोशल डिस्टेंस व मास्क सबसे बड़ा बचाव का हथियार है। ... नवनीत सिंह चहल, डीएम।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Now Corona warriors started getting infected