DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  चंदौली  ›  गेहूं खरीद बंद होने से फूटा किसानों का गुस्सा
चंदौली

गेहूं खरीद बंद होने से फूटा किसानों का गुस्सा

हिन्दुस्तान टीम,चंदौलीPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 03:21 AM
गेहूं खरीद बंद होने से फूटा किसानों का गुस्सा

इलिया (चंदौली)। क्षेत्र के विभिन्न गेहूं क्रय केंद्रों पर तौल कराने को लेकर बुधवार को किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। खरीद बंद रहने से एक सप्ताह से अपनी बारी का इंतजार कर रहे किसानों ने किसान विकास मंच के नेतृत्व में सहकारी समिति खरौझा के समक्ष प्रदर्शन किया। साथ ही शासन-प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की।

किसानों ने कहा कि पिछले एक सप्ताह से भी अधिक समय से गेहूं क्रय केंद्र, क्षेत्रीय सहकारी समिति खरौझा, क्रय केंद्र जनकपुर, हाट निरीक्षक केंद्र शहाबगंज, गेहूं क्रय केंद्र मसोई पर ट्रैक्टर से गेहूं ले जाकर तौल कराने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। इसी बीच बारिश होने से क्रय केंद्रों पर कोई व्यवस्था न रहने के कारण कई किसानों की गेहूं भींग कर नष्ट होने के कगार पर पहुंच गया है। बुधवार को बहुत से किसान तौल कराने की आस लगाए हुए थे। लेकिन अचानक खरीद बंद कर दिए जाने से उन्हें निराश होना पड़ा। जबकि शासन की ओर से गेहूं खरीद की तिथि बढ़ाकर 22 जून कर दी गई है। लेकिन 16 जून को ही खरीद बंद कर दिया गया। जिला प्रशासन की तानाशाही व किसान विरोधी रवैया है। इसे किसान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे। किसान विकास मंच के संगठन मंत्री रामअवध सिंह ने कहा कि किसान विरोधी रवैया को लेकर जिलेभर के किसान डीएम का घेराव करेंगे। प्रदर्शन करने वालों में प्यारेलाल, तुलसी जायसवाल, बबलू तिवारी, झब्बू बिन्द, करीमुल्ला, अरविंद कुमार, नितिन कुमार, उमा, परीक्षित कुमार, मिश्रीलाल पासवान आदि शामिल रहे।

संबंधित खबरें