ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश चंदौलीसामाजिक समरसता व न्याय के लिए संघर्ष करते रहे डॉ. आंबेडकर

सामाजिक समरसता व न्याय के लिए संघर्ष करते रहे डॉ. आंबेडकर

संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर हुए विविध आयोजन संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर हुए विविध...

सामाजिक समरसता व न्याय के लिए संघर्ष करते रहे डॉ. आंबेडकर
हिन्दुस्तान टीम,चंदौलीThu, 07 Dec 2023 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

पीडीडीयू नगर, हिटी
संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर का परिनिर्वाण दिवस जिलेभर में मनाया गया। इस दौरान राजनीतिक दलों, विभिन्न संगठनों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजली अर्पित की। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि डॉ. आंबेडकर जीवन पर्यंत सामाजिक समरसता व न्याय के लिए संघर्ष करते रहे। उन्होंने संविधान की परिकल्पना पर मजबूत लांकतंत्र के निर्माण में अहम भूमिका निभाई।

पीडीडीयू नगर स्थित सपा कार्यालय पर भारत रत्न डॉ भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि मनाई गई। इस मौके पर सपा नेताओं ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए और श्रद्धांजली दी। इस दौरान सपा के पूर्व सांसद रामकिशुन ने कहा कि उन्होंने संविधान का निर्माण कर उसमें दलित, पिछड़े समाज के लोगों के साथ-साथ महिलाओं को अधिकार दिलाने के लिए व्यवस्था की। साथ ही सामाजिक बुराइयों के खिलाफ भी कड़े कानून बनाया था। सामाजिक परिवर्तन के दिशा में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। इस मौके पर पूर्व ब्लाक प्रमुख बाबूलाल, प्रेम तिवारी, पारसनाथ यादव, स्वामी भजन आनंद, वकार जाहिद, राजकुमार कनौजि, गौरीशंकर तिवारी, शिव शंकर शुक्ला, विकास चौबे, संतोष मिश्रा, विनोद तिवारी आदि मौजूद रहे।

वहीं दूसरी ओर पीडीडीयू नगर शहर कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान मे कांग्रेस जनों ने संविधान निर्माता डॉ. आंबेडकर के पुण्यतिथि पर चतुर्भुजपुर- ओड़वार स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया। इस मौके पर शहर अध्यक्ष रामजी गुप्ता, आंनद शुक्ल, दयाराम पटेल, दशरथ चौहान, विजय गुप्ता, नेहाल अख्तर, फैयाज अंसारी, शाबिर राईन उपस्थित रहे।

सैयदराजा प्रतिनिधि के अनुसार, राजकीय पीजी कालेज सैयदराजा में बुधवार को प्राचार्य प्रो. नरेंद्र प्रताप गुप्ता की अध्यक्षता में बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस के उपलक्ष्य में पुष्पांजलि सभा का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता के रूप में इतिहास विभाग के डॉ. अनुराग सिंह ने उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला। इस दौरान भाषण एवं क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गई। संचालन डॉ. सर्वेश तिवारी और धन्यवाद डॉ. रवि प्रकाश ने दिया। इस मौके पर डॉ. हेमंत कुमार निराला, डॉ. सुनील कुमार, डॉ. अभय राज यादव, डॉ. नीरज सिंह, डॉ. आकांक्षा सिंह, संकट मोचन झा मौजूद रहे। चहनिया प्रतिनिधि के अनुसार, भारतीय संविधान के शिल्पकार डॉ. आंबेडकर की पुण्य तिथि पर लोकनाथ महावद्यिालय में संस्थापक प्रबंधक धनंजय सिंह ने उनके तैल चित्र पर दीपांजलि और पुष्पांजलि अर्पित कर उनके कृतत्वि पर प्रकाश डाला गया। बीटीसी प्रशिक्षुओं को जीवन मूल्य को आत्मसात कर देश और समाज हित कार्य करने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर विवेक सिंह, सुनील कुमार, सिद्धार्थ ओझा, रितेश पांडेय, श्याम सदन, जयप्रकाश उपस्थित रहे। संचालन अभय कुमार पीके ने किया। वहीं दूसरी ओर कंपोजिट विद्यालय हृदयपुर में भारत रत्न बाबा साहब डॉ भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि मनाई गई। प्रधानाध्यापक वीरेंद्र सिंह यादव ने कहा कि उन्होंने जीवन पर्यंत गरीबों तथा आम जनमानस की समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुए संविधान में उन्हें समानता, स्वतंत्रता का अवसर प्रदान किया। इस अवसर पर पूजा सिंह, बृजेश कुमार मिश्रा, लक्ष्मीकांत त्रिपाठी, प्रतीक्षा मौर्य, वंदना कुमारी, राम भजन राम उपस्थित रहे ।

परिनिर्वाण दिवस पर पर गरीबों में बांटे कंबल

नियामताबाद, हिन्दुस्तान संवाद। विकासखंड के बगया गांव में बुधवार को संविधान निर्माता डॉ भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि मनाई गई। इसमें पूर्व ब्लॉक प्रमुख बाबूलाल यादव की ओर से क्षेत्र के जरूरतमंदों में कम्बल वितरित किया गया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत के लोकतांत्रिक ढांचे के निर्माण मे डा. आंबेडकर के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। वे बीसवीं सदी के श्रेष्ठ चिंतक, ओजस्वी लेखक, यशस्वी वक्ता व स्वतंत्र भारत के प्रथम कानून मंत्री रहे। संविधान के निर्माण मे उनका योगदान अतुलनीय है। कहा कि वर्तमान में संविधान को खत्म करने की साज़िश की जा रही है। कहा कि सरकार की नई शक्षिा नीति लोगों को शिक्षा से दूर करने का कुचक्र रचा गया है। बाबा साहेब हर वर्ग के है। लेकिन कुछ राजनीतिक दल अपने फायदे के लिए उनकी जयंती व पुण्य तिथि मनाते हैं। जबकि वे लोग आरक्षण व संविधान को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं। जिसे किसी कीमत पर खत्म करने नहीं दिया जाएगा। क्षेत्रीय जरूरतमंदों में कम्बल वितरित किया गया। इस मौके पर ललित कुमार, अंकित कुमार, राजू भारती, शिवमूरत प्रधान, विद्याधर मौर्य, जितेंद्र मास्टर मौजूद रहे। गोष्ठी का संचालन डॉ चन्द्रमा यादव ने किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें