ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश चंदौलीदिव्यांग का राशन कार्ड निरस्त कर दूसरे को दे दिया कार्ड

दिव्यांग का राशन कार्ड निरस्त कर दूसरे को दे दिया कार्ड

धानापुर, हिन्दुस्तान संवाद। दिव्यांगों और जरूरतमंदों के लिए केंद्र से लेकर प्रदेश सरकार की...

दिव्यांग का राशन कार्ड निरस्त कर दूसरे को दे दिया कार्ड
default image
हिन्दुस्तान टीम,चंदौलीThu, 20 Jun 2024 10:15 PM
ऐप पर पढ़ें

धानापुर, हिन्दुस्तान संवाद।
दिव्यांगों और जरूरतमंदों के लिए केंद्र से लेकर प्रदेश सरकार की ओर से तमाम योजनाएं चलाई जा रही है। खासकर दिव्यांगों के लिए उनके जीवन को सुगम और बेहतर बनाने के लिए कई योजनाएं और सुविधाएं दी जा रही है लेकिन विभागीय लापरवाही के चलते धानापुर ब्लाक के धरांव गांव में एक दिव्यांग का अंत्योदय कार्ड निरस्त कर एक दूसरे व्यक्ति को दे दिया गया। आश्चर्य जनक यह है कि फर्जीवाड़ा करने वालों ने ग्राम पंचायत के प्रस्ताव को भी दरकिनार कर दिया गया। दृष्टि बाधित दिव्यांग रमेश राम ने डीएम से न्याय की गुहार लगाई है।

विकास खंड क्षेत्र के धरांव गांव में 6 जून 2023 को हुई भूमि प्रबंध समिति की बैठक में उषा देवी पत्नी रामराज को अपात्र करार देते हुए उनके स्थान पर दिव्यांग रमेश राम का नाम अंत्योदय अन्न योजना (लाल कार्ड) के लिए चयनित किया गया। ग्राम प्रधान साहब सिंह यादव, सेक्रेटरी त्रिलोकी सिंह एवं राजस्व लेखपाल सहित एक दर्जन ग्राम पंचायत सदस्यों के बहुमत से लिये गए निर्णय के बाद खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने 6 जनवरी 2024 को दोनों आंख के दृष्टि बाधित दिव्यांग रमेश राम के नाम अंत्योदय कार्ड संख्या 219620368426 जारी कर दिया। जिसपर गांव के सरकारी सस्ते गल्ले के दुकानदार सैय्यद ने रमेश को जनवरी से मई तक नियमित राशन दिया। लेकिन अब जून में राशन देने से यह कहकर मना कर दिया कि अब उसका राशन कार्ड फिर से उषा देवी पत्नी रामराज के नाम से जारी हो गया है। आपूर्ति विभाग के अफसरों का कहना है कि ब्लाक के अधिकारियों के निर्देश पर किया गया है। ऐसे में जब ग्राम पंचायत ने उषा देवी पत्नी रामराज को अपात्र करार देते हुए दिव्यांग रमेश राम के पात्र होने का प्रस्ताव पारित किया है। तो फिर बीडीओ ने किसके दबाव में उसे बदलने को कहा। बता दें कि उक्त दिव्यांग रमेश राम को 24 जुलाई 2013 में तीन विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने शत प्रतिशत दिव्यांग घोषित किया है। आलम यह है कि दिव्यांग रमेश राम के सामने दो वक्त की रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। इस मामले में एडीओ पंचायत राजेश सिंह का कहना है कि दिव्यांग रमेश राम को न्याय दिलाया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।