DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश चंदौलीअमूल्य धरोहर है संविधान : डॉ प्रतिमा

अमूल्य धरोहर है संविधान : डॉ प्रतिमा

हिन्दुस्तान टीम,चंदौलीNewswrap
Tue, 09 Mar 2021 11:50 PM
अमूल्य धरोहर है संविधान : डॉ प्रतिमा

धानापुर (चंदौली)। शहीद हीरा सिंह राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मंगलवार को दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में भारतीय राष्ट्रवाद और डॉ भीमराव अंबेडकर पर चर्चा की गई। मुख्य अतिथि राजकीय पीजी कॉलेज सेवापुरी वाराणसी की प्राचार्या प्रो यशोधरा शर्मा ने मां सरस्वती व डॉ अम्बेडकर के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित व दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया। मुख्य वक्ता बीएचयू की डॉ प्रतिमा गोंड ने भारतीय राष्ट्रवाद व डॉ बीआर आम्बेडकर के विचारों को रखा।

उन्होंने कहा कि संविधान हमारा अमूल्य धरोहर है। आज के समय में हमको एक मानव बनकर अपने राष्ट्रवाद को रखना चाहिए। अन्य वक्ताओं ने कहा कि राष्ट्रवाद 18 वीं शताब्दी की अवधारणा है। वर्तमान में सबसे कमजोर अवधारणा बन गयी है। वर्तमान समय में पंचायत चुनाव का माहौल है, जो राष्ट्रवाद व समाज का सबसे बुनियादी चीज है। यहीं से राष्ट्रवाद शुरुआत होती है। अच्छे लोगों को समाज का प्रतिनिधत्वि करना चाहिए। विशष्टि अतिथि डॉ राजेश कुमार, डॉ दीनानाथ, डॉ रामकृष्ण, डॉ रेशमलाल, डॉ संतन राम, डॉ आशारानी वर्मा आदि वक्ताओं ने संबोधित किया। इस मौके पर डॉ आरके सिंह, डॉ प्रदीप यादव, डॉ प्रवेश कुमार, डॉ नौशाद अहमद, डॉ सत्यप्रकाश, डॉ पूनम निर्मल, डॉ किरन यादव, डॉ सरोज पांडेय, डॉ प्रवीण भारती सहित अन्य प्राध्यापक उपस्थित रहे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ आरएन शर्मा, संचालन सुभाष राम व धन्यवाद ज्ञापन डॉ प्रवेश कुमार सिंह ने किया।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें