DA Image
21 अक्तूबर, 2020|4:37|IST

अगली स्टोरी

नाराज किसानों ने सिंचाई विभाग में जड़ा ताला

नाराज किसानों ने सिंचाई विभाग में जड़ा ताला

नगर के सिंचाई कालोनी परिसर में बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के साथ चकिया, नौगढ़ व शहाबगंज के किसानों ने पांच सूत्री मांगों को लेकर एक दिवसीय किसान महापंचायत का आयोजन किया। इसमें किसानों की समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। महापंचायत में सिंचाई कार्यालय में किसी अधिकारी के मौजूद नहीं रहने पर आक्रोशित किसानों ने कार्यालय पर तालाबंदी कर दी। मामले की जानकारी होते ही मौके पर पहुंचे एसडीएम अजय मिश्रा व अधिशासी अभियंता सुरेशचंद्र आजाद किसानों को शांत कराकर ज्ञापन लिया। किसान महापंचायत में वक्ताओं ने कहा कि वर्ष 1978 से अब तक भारतीय किसान यूनियन किसानों की समस्याओं को लेकर लड़ाई लड़ती रही है। जिले के एक तिहाई हिस्से में आज भी चंद्रप्रभा व कर्मनाशा सिस्टम से जुड़ी नहरों से सिंचाई होती है। वर्तमान समय में सिंचाई विभाग की लापरवाही से नहरों की स्थिति बद से बदतर हो गई है। सफाई के अभाव में नहरें कूड़े करकट से पट गई हैं। अतिक्रमण भी किया गया है। लेकिन अधिकारी ध्यान नहीं देते हैं। कार्यालयों में अधिकारियों के नहीं बैठने से किसानों को अपनी समस्याओं को लेकर भटकना पड़ता है। किसानों ने लतीफशाह डैम से निकली लेफ्ट कर्मनाशा नहर की मोहम्मदाबाद पुलिया तक आरसीसी लाइनिंग कराने, चंद्रावती नाले से निकली छोटी-बड़ी नहरों की सिल्ट सफाई कराकर टेल तक पानी पहुंचाने, नौगढ़ को सिंचित करने वाली कूड़ा रजवाहा नहर की चौड़ाई बढ़ाने के साथ ही क्षतिग्रस्त माइनरों की मरम्मत कराने की मांग की। वहीं भोका बंधी से निकली शिकारगंज माइनर के क्षतिग्रस्त गेट की मरम्मत कराने, पालपुर से निकली भैसासुर गोविंदीपुर माइनर के क्षतिग्रस्त तटबंध और झाल की मरम्मत कराने की भी मांग की गई। प्रदर्शन करने वालों में मदन पांडेय, नवल किशोर सिंह, वीरेंद्र पाल, रामकृत पटेल, भरत सिंह, फौजदार मौर्य, नागेंद्र कुशवाहा, देशराज सिंह, सरजू प्रजापति, अशोक मिश्रा, राधे बिंद, जोखन पाल आदि किसान शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Angry farmers set lock in irrigation department