DA Image
19 अक्तूबर, 2020|9:13|IST

अगली स्टोरी

महिला कांस्टेबल के बाद कोतवाली पर पत्नी ने जड़े आरोप

default image

बुलंदशहर। संवाददाता

गुलावठी थाना प्रभारी सचिन मलिक की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। महिला कांस्टेबल के बाद एसओ की पत्नी ने भी बुलंदशहर पहुंचकर उस पर आरोप लगाए हैं। पत्नी ने बताया कि पूर्व में भी उनका पति एक महिला कांस्टेबल पर जबरन रिश्ता रखने का दबाव बना चुका है। पत्नी ने एसएसपी से पति की सैलरी से आधी रकम दिलाए जाने की मांग की। उधर, महिला कांस्टेबल का कहना है कि जब हम खुद ही सुरक्षित नहीं हैं, तो औरों को क्या सुरक्षा देंगे।

पत्नी ने बुलंदशहर पहुंचकर लगाए गंभीर आरोप

गुलावठी थाना प्रभारी सचिन मलिक की शादी वर्ष 2004 में मेरठ के सदर बाजार निवासी रेनू पुत्री राजवीर के साथ हुई थी। शादी के कुछ साल बाद दोनों के बीच विवाद हो गया और पत्नी अलग रहने लगी। न्यायालय के आदेश पर सचिन मलिक द्वारा पत्नी को 9 हजार रुपये प्रतिमाह दिए जाते हैं। गुरुवार को पत्नी रेनू ने अपने पिता और भाई के साथ एसएसपी से मुलाकात की। इस दौरान रेनू ने कहा कि उसका नौ हजार रुपये में खर्च नहीं चल रहा है। इसलिए उसे अपने पति की कानूनी तरीके से आधी सेलरी चाहिए। एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने रेनू और उसके परिवार को आश्वासन दिया कि वह पुलिस हैड क्वार्टर को पत्र लिखकर आवश्यक कार्रवाई का अनुरोध करेंगे।

महिला कांस्टेबल ने उठाए सवाल

थाना प्रभारी के उत्पीड़न की शिकार महिला कांस्टेबल ने सिस्टम पर सवाल उठाए हैं। पीड़िता का कहना है कि जब हम महिला पुलिसकर्मी खुद ही सुरक्षित नहीं हैं तो औरों को क्या सुरक्षा देंगे? थाने पर एंटी रोमियो टीमें बनी हुई हैं। वह खुद कई बार एंटी रोमियो टीम में शामिल रही है। उसका कहना है कि जब हम महिला कांस्टेबल भी थानों पर सुरक्षित नहीं हैं तो औरों को क्या सुरक्षा दे पाएंगे

बयान देने नहीं पहुंची महिला कांस्टेबल

गुलावठी थाना प्रभारी सचिन मलिक पर जिस महिला सिपाही ने छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। उसके गुरुवार को विशाखा समिति की प्रभारी व सीओ स्याना के सामने बयान होने थे, लेकिन महिला सिपाही बयान देने के लिए नहीं पहुंची। सीओ अलका सिंह ने बताया कि महिला सिपाही बयानों के लिए पेश नहीं हुई है। जल्द ही एसओ सचिन मलिक के बयान दर्ज किए जाएंगे, जिसके बाद विशाखा समिति थाना गुलावठी पहुंचकर जांच करेगी।

यह था मामला

पीड़िता महिला कांस्टेबल ने आरोप लगाए है कि जुलाई 2017 से जुलाई 2020 तक थाना गुलावठी में बतौर महिला आरक्षी तैनात रही थी। जुलाई 2020 के बाद उसका स्थानान्तरण दूसरे थाने में कर दिया गया। आरोप है कि फरवरी 2020 से थाने पर तैनात प्रभारी निरीक्षक सचिन मलिक द्वारा उसका शारीरिक एवं मानसिक शोषण किया जाने लगा। उसका स्थानान्तरण होने के बाद भी संबंधित प्रभारी निरीक्षक द्वारा उसके मोबाइल एवं निजी जीवन पर जानकारी रखी जा रही है।

--------------------

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Wife accused on Kotwali after female constable