DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बुलंदशहर › शिक्षक-शिक्षामित्रों ने मांगों को लेकर भरी हुंकार
बुलंदशहर

शिक्षक-शिक्षामित्रों ने मांगों को लेकर भरी हुंकार

हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरPublished By: Newswrap
Wed, 15 Sep 2021 04:10 AM
शिक्षक-शिक्षामित्रों ने मांगों को लेकर भरी हुंकार

विभिन्न मांगों को लेकर शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक, आंगनबाड़ी एवं रसोइया एकजुट आवाज बुलंद की। ब्लॉक संसाधन केंद्रों (बीआरसी) पर धरना-प्रदर्शन कर मांगों को पूरा करने की मांग। शिक्षकों ने मांगों को लेकर अफसरों को विज्ञापन सौंपा। जल्द मांगें पूरा न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र यादव ने बताया कि प्रांतीय आह्वान पर लंबित समस्याओं के लिए रणनीति बनाई गई। शिक्षक संघ की 21 सूत्रीय मांगों का समर्थन करते हुए शिक्षामित्र, अनुदेशक, आंगनबाड़ी एवं रसोइया संगठनों ने साथ आंदोलन करने का निर्णय लिया। जिसके चलते सभी संगठनों की जिला कार्यकारिणी के सदस्यों ने शिक्षक संघ के साथ जिले के सभी ब्लाक संसाधन केंद्रों (बीआरसी) कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। मंगलवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत नगर संसाधन केंद्र पर नजर अब्बास, सदर बीआरसी पर पंकज कुमार गुप्ता, सिकंदराबाद बीआरसी पर सुरेंद्र यादव, अगौता बीआरसी पर कौशल किशोर, पहासू बीआरसी पर अखिलेश शर्मा, स्याना बीआरसी पर अजीत सिंह, लखावठी बीआरसी पर बाबू सिंह, खुर्जा बीआरसी पर अमित यादव आदि शिक्षक नेताओं के नेतृत्व में धरना-प्रदर्शन शुरू हुआ। इसमें सरकार के खिलाफ शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक, आंगनबाड़ी एवं रसोइया संगठनों ने आक्रोश जताया।

- शिक्षकों की यह हैं मांग

पुरानी पेंशन बहाली, कैश लैस चिकित्सा सुविधा, सभी शिक्षा मित्र, अनुदेशकों को स्थाई शिक्षक बनाने, मृतक शिक्षा मित्र-अनुदेशकों के आश्रितों को नौकरी देने, संविलियन निरस्त कराने, शिक्षकों की पदोन्नति, आंगनबाड़ी सहायिका का मानदेय 10 हजार रुपये एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री का मानदेय 15 हजार रुपये प्रतिमाह दिलाने, रसोइयों का मानदेय 10 हजार रुपया प्रतिमाह दिलाने, वेतन विसंगतियों को दूर कराने आदि।

संबंधित खबरें