DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूर्यदेव के तेवर तल्ख, तापमान 42 डिग्री

गर्मी से अभी राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। सूर्यदेव के तेवर और तल्ख हो गये हैं। शनिवार को तपिश के कारण बदन झुलसता रहा। हालत यह रही कि शाम तक बदन से पसीना नहीं रूका। अधिकतम तापमान भी बढ़कर 42 डिग्री सेल्सियस तक पहंुच गया।बीते कई दिनों से भीषण गर्मी से हालात खराब हैं। शनिवार को सुबह से ही तेज धूप ने लोगों को परेशान किया। दोपहर होते-होते बदन झुलसने लगा। धूप और तपिश के कारण लोगों का सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया। गर्म हवाएं आग की लपटों की तरह शरीर को भेदती रहीं। लू के थपेड़ों ने राहगीर और वाहन चालकों का सफर तय करना मुश्किल कर दिया। वहीं उमस से लोग पसीना-पसीना हो गये। आलम यह रहा कि जनमानस सहित पशु पक्षी भी बेहाल रहे। इन दिनों लोग मानसून का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन बारिश नहीं हो रही है। हालांकि तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण बादलों की उमड़-घुमड़ तो होती है, लेकिन बिन बरसे ही बादल लौट जाते हैं। मौसम विभाग की मानें तो जुलाई के पहले सप्ताह में मानसून आने आशंका है। शनिवार को न्यूनतम तापमान 30 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Surdev s peak temperature is 42 degrees