DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बुलंदशहर › धनुष भंग और परशुराम संवाद की लीला का मंचन
बुलंदशहर

धनुष भंग और परशुराम संवाद की लीला का मंचन

हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 06:15 PM
धनुष भंग और परशुराम संवाद की लीला का मंचन

सिकन्दराबाद। संवाददाता

नगर के रामबाड़ा में चल रही श्री रामलीला में रविवार की रात धनुष भंग और परशुराम संवाद की लीला का मंचन कलाकारों द्वारा किया गया। गुरु विश्वामित्र के साथ राम लक्ष्मण सीता स्वयंवर में भाग लेने जनकपुरी पहुचे।स्वंयवर में बलशाली राजा महाराजा पधारे। धनुष भंग की बात तो दूर कोई धनुष को हिला नहीं सका । गुरु विश्वामित्र की आज्ञा से श्रीराम ने धनुष पर प्रंतचया चढाकर भंग कर दिया। जिसके बाद सीताजी ने भगवान राम के गले में वरमाला डाल दी। भगवान राम ने धनुष भंग किया था तो उसकी टंकार भगवान परशुराम के कानों में जा टकराई। परशुराम जी राजा जनक के दरबार में जा पहुचे ओर क्रोधित होकर भगवान शिव का धनुष भंग करने की बात पूछी। तभी लक्ष्मण भी आवेश में आ गये ओर आपस में नोकझोंक होने लगी। तभी भगवान राम उठे ओर बोले भगवन गुनहगार आपके सामने खड़ा है।परशुराम भी सब कुछ समझकर शांत हो गये।

मंच संचालन अरविंद दीक्षित ने किया। रामलीला कमेटी के प्रधान पं राकेश शर्मा ,मैनेजर राहुल गर्ग , राकेश मोहन सर्राफ, जगदीश बजाज,आयुषि, चेतन दीवान, भोला , राजकुमार सैनी मौजूद रहे।

संबंधित खबरें