DA Image
25 नवंबर, 2020|1:34|IST

अगली स्टोरी

प्रदूषण पर नहीं काबू, 370 के पार एक्यूआई, बढ़ने लगी परेशानी

default image

बुलंदशहर। संवाददाता

एनसीआर के जिलों में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण ने बुलंदशहर को काफी हद तक अब अपनी चपेट में ले लिया है। कार्रवाई होने के बाद भी जिले में प्रदूषण इतना बढ़ रहा है कि एक्यूआई 370 के पार है। पिछले दो सप्ताह से जिला रेड जोन से बाहर नहीं आया है। देश के सर्वाधिक प्रदूषित वाले शहरों में बुलंदशहर शामिल है। पराली और कूड़ा करकट जलाने वाले 27 लोगों पर जिला प्रशासन एफआईआर करा चुका है। बढ़ता प्रदूषण लोगों के स्वास्थ्य पर भारी पड़ रहा है। राजधानी दिल्ली सहित एनसीआर के जिलों में पिछले कुछ दिनों से प्रदूषण का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है।

एक्यूआई यानि हवा की गुणवत्ता का सूचांक 370 के पार है। जिले का एक्यूआई बढ़ने से हवा काफी जहरीली हो रही है। प्रदूषण के मामले में बुलंदशहर देश के सर्वाधिक 29 प्रदूषित शहरों में पांचवें और मेरठ में नौंवे स्थान पर रहा है। पिछले माह के 15 दिनों तक जिला ऑरेंज जोन में था और इतना एक्यूआई नहीं था, मगर अब धीरे-धीर एक्यूआई 300 के पार चल रहा है। मंगलवार को भी जिले का एक्यूआई 370 दर्ज किया गया है। लगातार इस समय बढ़ता एक्यूआई लोगों के लिए काफी खतरनाक है। हवा में जो जहर घुला हुआ है वह लोगों को सांस लेने में दिक्क्त पैदा करेगा।

सख्ती के बावजूद जिले में किसान खेतों में पराली जला रहे हैं और निर्माण कार्य होन के कारण जिले की आबो-हवा पूरी तरह से खराब हो चुकी है। एनसीआर में दल्ली, फरीदाबाद, ग्रेटर नोएडा, गौतबुद्धनगर, गाजियाबाद, हापुड़ सहित अन्य जिले मंगलवार को पूरी तरह से रेड जोन में रहे। प्रदूषण विभाग द्वारा समय-समय पर प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी कर रहा है, मगर सख्ती के बाद भी जिले में प्रदूषण का ग्राफ बढ़ रहा है।

जगह-जगह जला रहा कूड़ा-पराली

नगर व देहात क्षेत्रों में लगातार कूड़ा जलाया जा रहा है। इससे वायु प्रदूषण अधिक हो रहा है। किसान खेतों में अभी भी पराली जला रहे हैं। सड़कों पर खुले आम कूड़े में आग भी लगाई जा रही है। सुबह व शाम के समय लगातार खुले में कूड़ा जलाया जा रहा है। ऐसे में प्रदूषण को और बढ़ावा दिया जा रहा है। सख्ती के बाद भी प्रदूषण कम होने का नाम नहीं ले रहा है।

27 पर हो चुकी है एफआईआर

प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ दिल्ली सेटेलाइट से भी नजर रखी जा रही है। जिले में प्रशासन अब तक 27 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा चुका है। जबकि इनसे 25-25 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूला जा रहा है। तहसीलों में जिला प्रशासन द्वारा जो लेखपाल की टीमें लगाई हैं वह पूरी तरह से सक्रिय हैं और सूचना पर मौके पर जाने के बाद कार्रवाई भी करती हैं।

कोट ...

दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने से एनसीआर के जिले रेड जोन में आ गए हैं। बुलंदशहर जिला भी रेड जोन में है। प्रदूषण करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। अवैध रूप से जो फैक्ट्रियां चल रही हैं उनके खिलाफ भी कार्रवाई हो रही है। हालात सुधारने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

-आशुतोष चौहान, क्षेत्रीय प्रदूषण अधिकारी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Pollution not controlled AQI beyond 370 trouble begins