DA Image
25 जनवरी, 2020|5:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हवा में जहर बरकरार, प्रदूषण की कम नहीं हो रही मार, एक्यूआई 257

default image

रोक के बाद भी चल रहे निर्माण कार्य और भटठी फैक्ट्रियों की चिमनियों से निकलने वाले काले धुएं के कारण प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है। प्रदूषण के कारण सांस संबंधी रोग बढ़ रहे हैं। वहीं बीमार लोग अधिक प्रभावित हो रहे हैं। जिम्मेदार कोई ध्यान नहीं दे रहे है। सीपीसीबी की रिपोर्ट में रविवार को एक्यूआई 257 दर्ज किया गया है।शहर की हवा में अब भी जहरीले कण घुले हैं। हवा के कारण लोगों को घुटन महसूस हो रही है। हवा में भारी धातुओं के महीन कणों के चलते परेशानी झेलनी पड़ रही है। इन दिनों शहर का प्रदूषण कम न होने के कई कारण माने जा रहे हैं। इन दिनों वेब सुगर मिल की चिमनी भी काला धुआं उगल रही है। आसपास के क्षेत्रों में में छोटे-छोटे काले कण लोगों की छतों पर गिर रहे हैं। आसपास के लोगों को सांस लेना तक दुश्वार हो रहा है। सूत्रों ने यह भी बताया है कि मील के पास प्रदूषण से कोई एनओसी तक नहीं है। बिना प्रदूषण की रोकथाम के इंतजाम किये ही संचालन हो रहा है। वहीं रोक के बाद भी शहर में कई स्थानों पर धड़ल्ले से निर्माण कार्य चल रहा है। इसके अलावा अधिकारियों का कहना है कि फैक्ट्रियों के संचालन पर रोक नहीं है, मगर सवाल यह है कि क्या उन्हें प्रदूषण फैलाने की अनुमति है? क्योंकि फैक्ट्रियों की चिमनी से भी काला धुआं निकल रहा है। जो हवा में जहर घोलने का काम कर रहा है। जिम्मेदार ध्यान देने को तैयार नहीं है। खामियाजा आम लोग भुगत रहे हैं। निर्माण कार्य पर अभी रोक है। टीम भेज कर जहां-जहां निर्माण कार्य चल रहा है। जांच करा ली जाएगी। जुर्माना प्रशासन की ओर से ही लगाया जाएगा।- जीएस श्रीवास्तव, क्षेत्रीय प्रदूषण अधिकारी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Poison remains in the air pollution is not decreasing AQI 257