ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश बुलंदशहरदो साल में तीन गुना तक बढ़ गई एड्स मरीजों की संख्या

दो साल में तीन गुना तक बढ़ गई एड्स मरीजों की संख्या

बुलंदशहर। जागरूकता का अभाव और आधुनिक जीवन शैली के चक्कर में युवा वर्ग एचआईवी जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। हर साल एचआईवी मरीजों का आंकड़ा...

दो साल में तीन गुना तक बढ़ गई एड्स मरीजों की संख्या
हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरThu, 30 Nov 2023 10:50 PM
ऐप पर पढ़ें

बुलंदशहर। जागरूकता का अभाव और आधुनिक जीवन शैली के चक्कर में युवा वर्ग एचआईवी जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। हर साल एचआईवी मरीजों का आंकड़ा बढ़ रहा है। पिछले दो साल में तीन गुना तक एचआईवी मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। इसमें सबसे ज्यादा युवा वर्ग ही शामिल है। इन सभी का इलाज एआरटी सेंटर में हो रहा है। जहां प्रत्येक महीने डॉक्टरी सलाह के बाद दवा का सेवन कर रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से एचआईवी को नियंत्रित करने के लिए तमाम दावे किए जाते हैं, लेकिन आंकड़ों पर नजर डालें तो यह दावे खोखले साबित दिख रहे हैं। एचआईवी मरीजों की संख्या में हर साल बढ़ोत्तरी हो रही है। वर्ष 2021 में 74 एचआई के मरीज मिले थे। 2022 में यह संख्या बढ़कर 201 पहुंची। वहीं 2023 में अप्रैल से नवंबर तक 213 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। पिछले दो सालों में काफी मरीज बढ़ गए हैं। वर्तमान में 1261 मरीजों का इलाज एआरटी सेंटर पर चल रहा है। एचआई के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं।

- बाहर भी करा रहे हैं इलाज

सरकारी आंकड़ों में तो मरीजों की यह संख्या काफी कम है। कुछ मरीज ऐसे भी हैं जो मेरठ, अलीगढ़ या अन्य जनपदों में इलाज करा रहे हैं। पहचान छिपाने के लिए जिले से दवाएं नहीं लेते हैं। यदि यह आंकड़ा भी शामिल किया जाए तो संख्या दोगुना तक हो सकती है।

- टीबी का शिकार भी हो रहे मरीज

एचआईवी के मरीज टीबी का भी शिकार हो रहे हैं। जिले में 50 से अधिक एचआईवी के मरीज टीबी रोग का भी शिकार हैं। जिनका इलाज चल रहा है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें