ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश बुलंदशहरदहेज लेने, देने या उकसाने पर पांच साल की सजा

दहेज लेने, देने या उकसाने पर पांच साल की सजा

दहेज प्रतिषेध अधिनियम 1961 के अनुसार दहेज लेना, देना या उकसाना अपराध की श्रेणी में आता है। इसकेलिए पांच साल तक की सजा अथवा 15 हजार रुपये जुर्माना का...

दहेज लेने, देने या उकसाने पर पांच साल की सजा
default image
हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरTue, 18 Jun 2024 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

दहेज प्रतिषेध अधिनियम 1961 के अनुसार दहेज लेना, देना या उकसाना अपराध की श्रेणी में आता है। इसकेलिए पांच साल तक की सजा अथवा 15 हजार रुपये जुर्माना का प्रावधान है।

जिला दहेज प्रतिषेध अधिकारी/जिला प्रोबेशन अधिकारी जय प्रकाश यादव ने बताया कि प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से दहेज की मांग पर 06 माह से 02 वर्ष तक की जेल तथा 10000/- रुपए जुर्माने का प्रावधान है। विवाह के उपरांत दोनों पक्षों द्वारा दिये गये उपहार की हस्ताक्षरित सूची एक माह के भीतर अनिवार्य रूप से जिला दहेज प्रतिषेध अधिकारी/ जिला प्रोबेधन अधिकारी को पेश की जाएगी। जनपद में दहेज से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत के लिए प्रतिषेध अधिकारी / जिला प्रोबेशन अधिकारी, कक्ष संख्या 07, कलेक्ट्रेट परिसर बुलन्दशहर, दूरभाष नंबर 7518024003 में संपर्क किया जा सकता है एवं महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित वन स्टॉप सेंटर बुलन्दशहर के नंबर 8393022836 तथा महिला हेल्प लाइन नंबर 181 पर संपर्क किया जा सकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।