DA Image
21 सितम्बर, 2020|12:13|IST

अगली स्टोरी

रमजान का पहला जुमा, लोगों ने घरों में पढ़ी जौहर की नमाज

default image

माहे रमजान के पहले जुमे को भी लोगों ने घरों पर रहकर ही जौहर की नमाज अदा की। लॉकडाउन के चलते लोगों को घरों से बाहर निकलने पर मनाही है। साथ ही धार्मिक स्थलों पर पहले से ही भीड़ एकत्रित नहीं होने के निर्देश जारी हैं। धर्मगुरुओं की ओर से भी लोगों से घरों पर रहकर ही इबादत करने की अपील की गई। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन-2 चल रहा है। कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए शासन-प्रशासन की ओर कड़ाई से लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है। कोरोना वायरस मिलने वाले क्षेत्रों को सील किया गया है। ऐसे में लोग एक तरह से घरों में ही कैद हैं। लॉकडाउन के दौरान ही रमजान का महीना शुरू हो गया। माहे रमजान का मुस्लिम समाज में विशेष महत्व है। इस महीने में पढ़ने वाले शुक्रवारों को लोग बड़ी संख्या में मस्जिदों में नमाज अदा करने के लिए जाते हैं, लेकिन इस बार स्थिति बदली हुई हैं। सामान्य दिनों में भी धार्मिक स्थलों पर भीड़ इकट्ठा नहीं करने के निर्देश हैं। जुमे को लोगों ने घरों पर रहकर ही जौहर की नमाज अदा की। जुमे को लेकर पुलिस और प्रशासन की ओर से भी सतर्कता बरती गई। आला अधिकारियों के अलावा पुलिस की गश्त पूरे दिन चलती रही।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:First Zuma of Ramadan people prayed Jauhar in homes