DA Image
25 अक्तूबर, 2020|1:56|IST

अगली स्टोरी

जेल जाने को तैयार रहने का आह्वान

default image

बुलंदशहर। संवाददाता

निजीकरण के विरोध में चल रहे आंदोलन को अब धार देने की तैयारी की जा रही है। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति की ओर से आह्वानर किया गया है कि अब अधिकारी और कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल और जेल जाने को भी तैयार रहें।

बताते चलें कि बिजली के निजीकरण के विरोध में हाइडिल कालोनी स्थित सर्किल कार्यालय पर चार घंटे का कार्य बहिष्कार और धरना प्रदर्शन चल रहा है। गुरुवार को धरने में पर बैठे अधिकारियों और कर्मचारियों को संबोधित करते हुए इंजीनियर विकास शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार ने नेशनल लोड डिस्पेच सेंटर और उत्तरी क्षेत्र लोड डिस्पेच सेंटर को यह संदेश दिया है कि यूपी में 5 अक्तूबर से हड़ताल संभावित है। स्पष्ट है कि सरकार निजीकरण को लेकर हठधर्मी रवैया अपना रही है। सरकार हमारे ऊपर हड़ताल थोपना चाहती है। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि यह भी पता चला है कि एनटीपीसी और पॉवर ग्रिड को भी पांच अक्तूबर से यूपी में कार्य संभालने के लिए एलर्ट कर दिया गया है। लखनऊ में हड़ताल से निपटने के लिए सुबह आठ बजे से ही सरकार और प्रबंधन की आपात बैठक चल रही है।