DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बुलंदशहर  ›  ऑक्सीजन न मिलने से इंडस्ट्रीज में टूट रहा कारोबार
बुलंदशहर

ऑक्सीजन न मिलने से इंडस्ट्रीज में टूट रहा कारोबार

हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरPublished By: Newswrap
Wed, 26 May 2021 05:10 PM
ऑक्सीजन न मिलने से इंडस्ट्रीज में टूट रहा कारोबार

बुलंदशहर। संवाददता

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की इतनी खपत हुई कि जिले के इंडस्ट्रीज एरिया दम तोड़ने की कगार पर जा पहुंचा है। जिले के ऐरिया को पिछले डेढ़ माह से ऑक्सीजन नहीं मिली है और वहां जैसे-तैसे करके कार्य चल रहा है। वेंडरों ने ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर रखी है और केवल अस्पतालों में ऑक्सीजन जा रही है। इंडस्ट्रीज में इस समय दूसरे संसाधनों से कार्य चल रहा है। जिले की इंडस्टीज को प्रतिदिन 500 से अधिक सिलेंडरों की जरूरत है। ऑक्सीजन न मिलने के कारण इंडस्ट्रीज क्षेत्रों को करोड़ों रुपये का नुकसान बताया जा रहा है।

कोरोना काल में उद्योग धंधे बंद होने की कगार पर पहुंच गए हैं। इंडस्ट्रीज क्षेत्रों में धीरे-धीरे कार्य पर लौट रहा था। मगर कोरोना की दूसरी लहर में जैसे ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ी तो इंडस्ट्रीज और अन्य उद्योगों को ऑक्सीजन मिलनी बंद हो गई। सिकंदराबा, खुर्जा और बुलंदशहर में रोलर मिक्सर, फैब्रिकेटर्स, इस्पात निर्माण सहित अन्य इंडस्ट्रीज हैं और इनमें अधिकांश लोहे व स्टील का कार्य ऑक्सीजन से होता है। इसमें लोहे की कटाई और वैल्डिंग का कार्य में ऑक्सीजन का इस्तेमाल होता है। मगर पिछले डेढ़ माह से इंडस्ट्रीज को ऑक्सीजन नहीं मिली है और वहां उद्योग चौपट होने की कगार पर है। हालांकि कुछ इंस्ट्रीज में जैसे-तैसे करके ऑक्सीजन लेकर जरूरी कार्यों को निपटाया है। जिल की इंडस्ट्रीज को प्रतिदिन 500 से अधिक ऑक्सीजन के सिलेंडर प्रतिदिन चाहिए, मगर इस समय उन्हें सिलेंडर मिलना काफी मुश्किल हो रहा है।

संबंधित खबरें