DA Image
24 अक्तूबर, 2020|2:27|IST

अगली स्टोरी

उत्पीड़न के खिलाफ न्यायिक कार्यों से विरत रहे अधिवक्ता

default image

बुलंदशहर। संवाददाता

हाईकोर्ट बेंच स्थापना केंद्रीय संघर्ष समिति पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आह्वान पर जिले के अधिवक्तागण न्यायिक कार्यों से विरत रहे। अधिवक्ताओं ने मुरादाबाद में अधिवक्ता से मारपीट के मामले में पुलिस की मनमानी पर रोष जताया और आंदोलन की चेतावनी दी।

गुरुवार को डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन और सिविल बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं की बैठक हुई। इसमें बताया गया कि मुरादाबाद के सम्मानित अधिवक्ता के साथ कुछ लोगों द्वारा घर में घुसकर मारपीट एवं जानलेवा हमला कियाग या। रिपोर्ट दर्ज कराए जाने के बावजूद मुरादाबाद पुलिस ने दूसरे पक्ष से सांठगांठ कर आरोपियों को थाने से ही छोड़ दिया। बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव का समर्थन किया गया। दोनों बारों के अधिवक्ता न्यायिक कार्यों से विरत रहे। डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष गजेंद्र कुमार रघुवंशी एवं महासचिव मनोज कुमार शर्मा तथा सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष किरनचंद शर्मा एवं सचिव नीरज राघव ने बताया कि सभी अधिवक्ता न्यायिक कार्यों से विरत रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Advocates from judicial work against harassment