DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बुलंदशहर  ›  यमुना प्राधिकरण में शामिल होंगे जिले के 53 गांव, बोर्ड बैठक में सहमति
बुलंदशहर

यमुना प्राधिकरण में शामिल होंगे जिले के 53 गांव, बोर्ड बैठक में सहमति

हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 04:11 AM
 यमुना प्राधिकरण में शामिल होंगे जिले के 53 गांव, बोर्ड बैठक में सहमति

बुलंदशहर। संवाददाता

मेरठ कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को बुलंदशहर विकास प्राधिकरण के सभागार में आयोजित बुलंदशहर एवं खुर्जा विकास प्राधिकरण की बैठक में कई अहम प्रस्ताव पारित हुए। बैठक में इस्टर्न फ्रेट कॉरीडोर-दिल्ली-कोलकत्ता रेलवे लाइन के दूसरी ओर आने वाले बुलंदशहर जिले के 53 गांवों को यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में शामिल किए जाने की सहमति दी गई। इसके अलावा सीएनजी और पेट्रोल पंप के प्रस्ताव पर भी मुहर लगाई गई।

यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा गत महीनों पहले बुलंदशहर विकास प्राधिकरण को पत्र भेजकर इस्टर्न फ्रेट कॉरीडोर-दिल्ली-कोलकत्ता रेलवे लाइन की दक्षिण दिशा (दूसरी ओर) में आने वाले 53 गांवों को शामिल करने के लिए पत्र भेजा गया था। इसके बाद कोरोना की दूसरी लहर आ गई। इसके चलते प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ सकी। अब शुक्रवार को बोर्ड बैठक में बुलंदशहर के 11 गांवों को यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में शामिल करने और खुर्जा विकास प्राधिकरण के 42 गांवों को अनाधिसूचित किए जाने की सैद्धांतिक सहमति दी गई।

इसके अलावा गांव धमरावली में सीएनजी फिलिंग स्टेशन और न्यू सिकंदराबाद क्षेत्र में महायोजना 2021 के जोनिंग रेगुलेशन के तहत पेट्रोल पंप के प्रस्ताव को अनुमति दी गई। इसके साथ ही न्यू सिकंदराबाद को विकसित करने में आ रही कठिनाईयों को दूर करने के लिए एक समिति का गठन कर 30 दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए। बैठक में डीएम रविन्द्र कुमार, बीडीए-केडीए उपाध्यक्ष हर्षिता माथुर, कोषागार अपर निदेशक अतुल कुमार सिंह, चीफ कोऑर्डिनेटर प्लानर एससी गौड़, सचिव/एसई नीरज गुप्ता, नगर पालिका अध्यक्ष मनोज गर्ग, पालिकाध्यक्ष परवीन फडडा, बीडीए सदस्य अजय त्यागी, नेमपाल सिंह,वीपी एल्हेंस, वेदपाल राघव आदि मौजूद रहे।

बुलंदशहर क्षेत्र के यह हैं 11 गांव-----

बुलंदशहर विकास प्राधिकरण क्षेत्र के गांव सलौनी उर्फ रौनी, मकरंदपुर उर्फ फतेहपुर, बैर बादशाहपुर, अरौड़ा, फतेहपुर जादा, धनौरा, नूरपुर, निठारी, गांगरौल, कादरपुर को यमुना प्राधिकरण में शामिल किया जाएगा।

खुर्जा क्षेत्र के 42 गांव-----

खुर्जा विकास प्राधिकरण के गांव शेखपुर माम, दाउदपुर, सलेमपुर माजरा दस्तूरा, दस्तूरा, खंडपुरा, भगवानपुर, हसनपुर लडूकी, बीघेपुर, बीछट सुजानपुर, मौहम्मदपुर मजरा बीछट, अखित्यारपुर, सनैता सफीपुर, भाईपुर, ललपुर मुमरेजपुर, शहजादपुर, कनेनी, सारंगपुर, नगला रूमी, आसफपुर, सिरयाल, शाहपुर कलां, गौठनी, भिंडौर, फिरोजपुर, अहरौली, औरंगा, भादवां, रामगढ़ी, जाफर नगर गुदाईपुर, जाहिदपुर कलां, गंगथला, कलंदर गढ़ी, क्वारसी, जाहिदपुुर खुर्द, सुल्तानपुर, इस्माइलपुर बुढैना, इब्राहिमपुर जुनैदपुर, समसपुर, कमालपुर मजरा भदौरा, इनायपुर उर्फ मधुपुरा, भदौरा, खबरा को शामिल किए जाने पर सहमति बनी है।

संबंधित खबरें