DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बुलंदशहर › डिप्रेशन का शिकार हुए 20 कैदी-बंदी
बुलंदशहर

डिप्रेशन का शिकार हुए 20 कैदी-बंदी

हिन्दुस्तान टीम,बुलंदशहरPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 06:00 PM
डिप्रेशन का शिकार हुए 20 कैदी-बंदी

कोरोना काल में मानसिक तनाव काफी बढ़ गया है। शनिवार को जेल में ओपीडी के दौरान 20 कैदी-बंदी डिप्रेशन के मिले हैं। इन कैदी-बंदियों को मानसिक तनाव, घटबराहट और नींद की समस्या बढ़ी है। मनोचिकित्सक डॉ. धीरेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा की गई काउंसिलिंग में यह सामने आया है।

उन्होंने बताया कि कोरोना काल में मानसिक तनाव बढ़ गया है। शनिवार को जेल में कैदी-बंदियों की कांउसिलिंग की गई। जिसमें 20 कैदी-बंदी ऐसे मिले हैं, जिनका कोरोना के बाद मानसिक तनाव बढ़ गया है।

इस दौरान परिजनों से मुलाकात न होने के कारण भी तनाव बढ़ा है। उन्होंने काउंसिलिंग की सेवा देकर मरीजों का उपचार किया। साथ ही उन्होंने व्यायाम करने की सलाह भी दी गई।

डॉ. धीरेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि कोरोना के बाद 20 फीसदी मानसिक तनाव के रोगी बढ़े हैं। जेल अधीक्षक मिजाजीलाल का कहना है कि बंदियों के तनाव का कोई मामला जेल में नहीं है। बंदियों को मानसिक रूप से स्वस्थ्य रखने के लिए योग, मनोरंजन के साधन भी मुहैया कराए गए हैं।

संबंधित खबरें