अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिनदहाड़े सरेबाजार महिला को घेर कर चाकू से गोदा, गोली मारी

दिनदहाड़े सरेबाजार महिला को घेर कर चाकू से गोदा, गोली मारी

पति से तलाक के विवाद के चलते एक तलाकशुदा महिला को उसके ससुराल पक्ष के लोगों ने दिनदहाड़े सरेबाजार घेरकर पहले चाकू से वार किए और फिर उसको गोली मार दी।

हमले से लहूलुहान हुई महिला जान बचाकर निकट ही स्थित मुस्लिम फंड कार्यालय में घुस गई। गंभीर रूप से घायल महिला को जिला अस्पताल से मेरठ रेफर कर दिया गया है। हमले के मुख्य आरोपी महिला के देवर लईक पुत्र शफीक को तमंचे समेत हिरासत में ले लिया गया है। मंगलवार को 11 बजे के करीब मिट्ठन कुरैशी की पुत्री जैमिन 35 वर्ष अपने घर से बाजार आई थी। आरोप है, कि वह मुस्लिम फंड के निकट चूड़ियों वाला बाजार में पहुंची तो ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे घेर लिया।

जैमिन पर जान से मारने की नीयत से पहले चाकू से वार किया और फिर तमंचे से उस पर गोली चला दी। शरीर पर कई जगह चाकू के घाव और पेट में गोली लगने के बाद गम्भीर रूप से घायल जैमिन ने हिम्मत दिखाई और वहां से भाग निकली। वह दौड़कर मुस्लिम फंड में घुस गई। हमलावर पीछे भाग कर आए, लेकिन फंड के मुख्य द्वार पर सिक्योरिटी गार्ड के तैनात होने के कारण हमलावर में अन्दर नहीं जासके। मौके पर भीड़ जमा हो गई। पुलिस को घटना की सूचना दी गई। पुलिस ने उसे मौके से उठाकर सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से बिजनौर भेज दिया गया है। जिला अस्पताल में सर्जन न होने के कारण यहां से भी मेरठ रेफर कर दिया गया। पुलिस ने उसके देवर लईक पुत्र शफीक को मय तंमचे के साथ हिरासत में ले लिया है। थाना प्रभारी निरीक्षक लव सिरोही का कहना है कि महिला गम्भीर रूप से घायल है। उसकी ओर से अभी तहरीर नहीं मिली है उसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।तलाक के बाद अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रही थी जैमिन मोहल्ला लुहारान निवासी मिट्ठन कुरैशी की पुत्र जैमिन का निकाह पास में ही स्थित मोहल्ला कस्साबान निवासी शफीक कुरैशी के पुत्र तौफिक कुरैशी से लगभग 10 वर्ष पूर्व हुआ था। दोनों पति पत्नी दिल्ली रहते थे। उसके कुछ समय बाद ही तौफिक ने जैमिन को तलाक दे दिया था। इस विवाद में जैमिन ने ससुराल पक्ष के खिलाफ दिल्ली में ही परिवारिक हिंसा का मुकदमा पंजीकृत कराया था। यह मुकदमा अभी भी दिल्ली की अदालत में विचाराधीन है। जैमिन के साथ ससुराल पक्ष ने कई बार मारपीट की थी। जिसमें कई मुकदमे जैमिन ने दर्ज करा रखे थे। पति के घर पर एक दिन पहले ही चस्पा हुआ था कुर्की का नोटिस मंगलवार को जैमिन के उपर हुए जानलेवा हमले का मुख्य कारण दिल्ली की अदालत में विचारधीन पारिवारिक हिंसा में जारी किया कुर्की का वारंट रहा। एक दिन पूर्व ही सोमवार को इस मामले में दिल्ली पुलिस ने किरतपुर आकर मोहल्ला कस्साबान स्थित पति के घर पर कुर्की का नोटिस चस्पा किया था। जिसके बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग आ्क्रोशित थे। पहले भी जैमिन पर हो चुका है जानलेवा हमला वर्ष 2011 में ससुराल पक्ष के पति तौफिक, देवर लईक, रफीक ने जैमिन की घर में घुसकर उस पर जानलेवा हमला किया था। जैमिन के गर्दन पर गम्भीर चोट आई थी। उसके पिता मिठठन कुरैशी की ओर से थाना किरतपुर में हत्या का प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: woman surrounded by knife and shot