DA Image
19 जनवरी, 2021|5:13|IST

अगली स्टोरी

आग की लपटों में घिरी महिला जान बचाने प्रधान के घर दौड़ी, मौत

default image

आग की लपटों में घिरी महिला प्रधान के घर जान बचाने पहुंच गई। प्रधान ने घर के बाहर अचेत महिला को बचाने का प्रयास किया। महिला को गंभीर हालत में ऋषिकेश अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई।

थाना मंडावर क्षेत्र के गांव शहवाजपुर निवासी अंकुर की शादी उत्तराखण्ड के रूड़की निवासी नीलम से हुई थी। रविवार की देर रात नीलम आग की लपटों में घिरी जान बचाने ग्राम प्रधान के घर पहुंची। ग्राम प्रधान ने बामुशिकल आग बुझाई, लेकिन कब तक महिला बुरी तरह झुलस चुकी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस को झुलसी महिला को गंभीर हालत में महिला को जिलाअस्पताल भर्ती कराया, जहां तहसीलदार ने उसके बयान लिए। हालत गंभीर होने पर उसे उत्तराखंड के ऋषिकेश अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी मौत हो गयी। महिला के परिजनों ने अभी कोई तहरीर पुलिस को नहीं दी है। ग्राम प्रधान का कहना है कि महिला जली हुई अवस्था में आई थी। उसे उपचार के लिए भेजा गया। बताया जा रहा है कि ऋषिकेश अस्पताल में उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई। हल्का दरोगा संजय त्यागी का कहना है कि महिला के मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान कराए गए है। उसने ससुराल पक्ष पर मिट़टी का तेल डाल आग लगाने का आरोप लगाया है। अभी तहरीर नहीं आई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Woman caught in flames ran to Pradhan 39 s house to save her life died