Villagers complain about police action in police station - पुलिस कार्रवाई को लेकर ग्रामीणों ने थाने पर किया हंगामा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस कार्रवाई को लेकर ग्रामीणों ने थाने पर किया हंगामा

पुलिस कार्रवाई को लेकर ग्रामीणों ने थाने पर किया हंगामा

ग्राम पालीजट में विवाद की सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मी के साथ हुई अभद्रता के मामले में पुलिस कार्रवाई को लेकर ग्रामीणों ने थाने पर हंगामा किया। उन्होंने निर्दोषों को पुलिस द्वारा परेशान करने का आरोप लगाया। प्रभारी निरीक्षक ने ग्रामीणों को मामले की जांच कराने और निर्दोष को जेल न भेजने का आश्वासन किया। शुक्रवार को भाजपा नेता महावीर सैनी के नेतृत्व में थाने पहुंचे ग्रामीणों ने 14 जुलाई को हुए विवाद में पुलिस पर ग्रामीणों का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। ग्रामीणों का आरोप हैं कि पुलिस ने झूठा मुकदमा बनाया हैं और अब ग्रामीणों का उत्पीड़न कर रही है। उन्होने जमकर नारेबाजी भी की। ग्रामीणों ने ग्रामीणों ने न्याय न मिलने पर मुख्यमंत्री के दरबार में गुहार लगाने की बात कही है। ग्रामीणों को शांत करते हुए प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार ने मामले की निष्पक्ष जांच कराने का आश्वासन दिया। उन्होने कहा कि किसी भी निर्दोष को जेल नहीं भेजा जायेगा। इस अवसर पर पवन कुमार, हरपाल सिंह, शंकर सिंह, मदन सिंह, रामपाल सिंह, शीशराम सिंह, चन्द्रपाल सिंह, सोनू सैनी, गुड्डी, हरिराज सिंह, रामसिंह, रणजीत सिंह, प्रीतम सिंह, जयपाल सिंह, नन्दराम सिंह, ममता, सरिता, मुन्नी, रचना, कमलेश, गुड़िया सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहें। बता दें कि 14 जुलाई की रात्रि में विवाद हो गया था। जिसमें सूचना पर कांस्टेबल वीरपाल तथा होमगार्ड मुकेश गांव पहुंचे थे। जिसमें पुलिस ने रामपाल के पुत्र तुलाराम, नरेन्द्र व 3-4 अन्य मिलकर उनकी वर्दी फाड़ने तथा तमंचे से फायर करने का आरोप लगाकर तुलाराम ओर रविन्द्र का संगीन धाराओं में चालान कर दिया है और शेष आरोंपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। पशु भूखे प्यासे बंधे हैंथाने पहुंचे लोगों का आरोप था कि पुलिस की छापेमारी से ग्रामीणों में दहशत है। पुलिस द्वारा झूठा फंसाने के डर से अनेक ग्रामीण अपने घरों में नही सो पा रहे है। मामले में आरोपी बनाया गया रामपाल सिंह का परिवार भी कही चला गया है। जिसके कारण उसके पशु भूखें प्यासे बंधे हुए है। कोई ग्रामीण यदि उन्हें चारा डाल दें तो ठीक, नही तो वह भूखे रहते हैं। अनेक ग्रामीणों ने पुलिस कारवाई के विरोध में गांव छोड़ने की चेतावनी दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Villagers complain about police action in police station