DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उर्दू का रहा जंगे आजादी में अहम योगदान

उर्दू टीचर्स एसोसिएशन की ओर से आयोजित बैठक में एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष बनने पर आबिद रशीद को सम्मानित किया गया। बैठक में उर्दू के प्रचार प्रसार पर बल दिया।

बुधवार को बीआरसी कार्यालय पर उर्दू टीचर्स एसोसिएशन की बैठक हुई। हाजी खुर्शीद अहमद की अध्यक्षता एवं मुदस्सिर जमा के संचालन में आयोजित बैठक मे एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष बनने पर आबिद रशीद को सम्मानित किया। आबिद रशीद ने कहा कि शिक्षकों को उर्दू पढ़ाने के लिए समर्पित रहना चाहिए। नौ नवम्बर को ब्लॉक नजीबाबाद में उर्दू दिवस मनाया जाएगा। इसमें उर्दू सुलेख व वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजनप किया जाएगा। इकबाल अहमद ने कहा कि उर्दू एक मीठी और इंकलाबी जुबान है। उर्दू का जंगे आजादी में अहम योगदान रहा। उर्दू सिर्फ मुसलमानो की जुबान ही नहीं बल्कि मुश्तरका (संयुक्त) जुबान है। मौहम्मद शुएब अंसारी को ब्लाक अध्यक्ष चुना गया। बैठक में शमशाद अहमद, इरशाद हुसैन, कहकशा, जोहरा जबी, नफीसा खातून, निदा फाजली, जाहिदा, दिलेराम, नाजिम अली, मौ रागिब, हरगोविंद सिंह, बमरपाल गौतम, रामनाथ, योगेन्द्र, अमित चौधरी, संजीव्र फुरकान, यूसुफ, नजमुर्रहमान, गुलजार, मोबिन, शाहिद एवं शमशुद्दीन आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Urdu contribution to the struggle for independence