DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धामपुर में रेल लाइन के नीचे जीव ने बनाई सुरंग, अलर्ट

धामपुर में रेल लाइन के नीचे जीव ने बनाई सुरंग, अलर्ट

1 / 3रेल अधिकारियों के लिए एक जीव मुसीबत का सबब बन गया। इस जीव ने रेल पटरियों के नीचे करीब एक फिट चौड़ी और पांच मीटर लंबी सुरंग बना डाली। रेल अधिकारियों को भी जब इस बारे में पता चला तो हड़कंप मच...

धामपुर में रेल लाइन के नीचे जीव ने बनाई सुरंग, अलर्ट

2 / 3रेल अधिकारियों के लिए एक जीव मुसीबत का सबब बन गया। इस जीव ने रेल पटरियों के नीचे करीब एक फिट चौड़ी और पांच मीटर लंबी सुरंग बना डाली। रेल अधिकारियों को भी जब इस बारे में पता चला तो हड़कंप मच...

धामपुर में रेल लाइन के नीचे जीव ने बनाई सुरंग, अलर्ट

3 / 3रेल अधिकारियों के लिए एक जीव मुसीबत का सबब बन गया। इस जीव ने रेल पटरियों के नीचे करीब एक फिट चौड़ी और पांच मीटर लंबी सुरंग बना डाली। रेल अधिकारियों को भी जब इस बारे में पता चला तो हड़कंप मच...

PreviousNext

रेल अधिकारियों के लिए एक जीव मुसीबत का सबब बन गया। इस जीव ने रेल पटरियों के नीचे करीब एक फिट चौड़ी और पांच मीटर लंबी सुरंग बना डाली। रेल अधिकारियों को भी जब इस बारे में पता चला तो हड़कंप मच गया।

ये सुरंग ट्रेनों के लिए खतरा बन चुकी है। तुरत-फुरत में डीआरएम ने यहां ट्रेनों को धीमी गति से निकलाने के लिए आदेश दिए हैं। जीव को पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम पूरी मुस्तैदी से जुटी हुई है। आशंका जताई जा रही है कि ये जीव सेह है।

धामपुर में करीब एक सप्ताह पहले रेल कर्मियों की निगाह गांव चकसहजानी रेल फाटक और हबीबवाला स्टेशन के बीच डाउन ट्रेक पर पड़ी। यहां एक स्थान पर करीब एक फिट चौड़ा सुरंगनुमा छेद दिखाई दिया। भीतर तक देखा गया तो इस सुरंग की लंबाई करीब चार से पांच मीटर लंबी है। रेल ट्रैक के ठीक नीचे इस सुरंग के होने के कारण ट्रेनों के लिए खतरा पैदा हो गया है।

मामले की जानकारी होने पर रेल पथ निरीक्षक बाबू राम ने मौके का निरीक्षण किया और जीव के पकड़े जाने तथा सुरंग के बंद करने तक यहां से ट्रेनों को धीमी गति से निकालने के आदेश दिए। बाबू राम ने बताया कि ट्रेक पर ये सुरंग संभवत: सेह ने बनाई प्रतीत होती है।

बताया कि उन्होंने इस बारे में क्षेत्रीय वन रेंजर अरविंद श्रीवास्तव ने बताया कि रेल विभाग से उन्हें ट्रेक के नीचे किसी जीव द्वारा सुरंग बनाने की बात कही गई थी। हमने मौके का मुआयना किया है और सुरंग के मुंह पर जाल लगा दिया है। संभवत: ये जीव सेह है।

बिना जीव पकड़े कैसे बंद करें सुरंग का मुंह

यूं तो जानकारी मिलने के बाद सुरंग को तुरंत ही बंद किया जा सकता है, लेकिन वन अधिकारियों ने कह दिया है कि जीव को भीतर बंद नहीं किया जाए अन्यथा ये बाहर निकलने का रास्ता बंद होने की स्थिति में अंदर ही अंदर और अधिक सुरंग बना सकता है।

इस संबंध में मुझे जानकारी मिल चुकी है। करीब एक हफ्ते पहले ट्रेक के नीचे कथित रूप से किसी जीव द्वारा सुरंग बनाने की बात कही जा रही है। मेरे संज्ञान में ये मामला एकाध दिन पहले ही आया है। मौके पर ट्रेनों की स्पीड धीमी कर वहां से निकालने के लिए आदेश दिए गए हैं। मामले की जांच भी होगी।

-एके सिंघल, डीआरएम, मुरादाबाद

डेढ़ सौ ट्रेनें हर रोज गुजरती हैं ट्रैक से

रेल अधिकारियों के अनुसार इस स्थान से हर रोज डेढ़ सौ ट्रेनें हर रोज गुजरती हैं। जब इस सुरंग के बारे में किसी को पता नहीं था, उस समय तक हर रोज सैकड़ों ट्रेनें यहां से गुजरती रहीं। डीआरएम ए के सिंघल ने बताया कि यहां अप एवं डाउन ट्रैक से हर रोज डेढ़ सौ ट्रेनें गुजरती हैं।

कोई साजिश तो नहीं

हालांकि, प्रथम दृष्टया ये छोटी सुरंग किसी रहस्यमय जीव द्वारा बनाने की बात ही सामने आ रही है, लेकिन डीआरएम ने मामले को गंभीरता से लेकर जांच बैठाई है। ऐसे में इस बात की आशंका से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि असामाजिक तत्वों द्वारा किसी साजिश के तहत तो ये सुरंग नहीं खोदी गई।

शर्मीला प्राणी होता है सेह

जंगल के इलाकों में अक्सर सेह मिल जाता है। वन क्षेत्राधिकारी धामपुर अरविंद श्रीवास्तव के अनुसार सेह जब अपने कांटेनुमा पंख फैलाता है तो इसकी लंबाई-चौड़ाई करीब दो फिट तक हो जाती है। यह एक शाकाहारी जीव होता है जो भूमि के अंदर करीब तीन मीटर तक सुरंग बनाकर रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The tunnel created by the organism under the railway line in Dhampur, Alert