DA Image
21 जनवरी, 2021|8:39|IST

अगली स्टोरी

सीबीएसई की परीक्षाएं विलंब से होने पर छात्रों को मिलेगा तैयारियों समय

default image

सीबीएसई की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तारीख का ऐलान हो गया है। सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 4 मई से 10 जून तक होगी। उम्मीद है कि 15 जुलाई से पहले नतीजे जारी किए जाएंगे। सीबीएसई स्कूल के प्रधानाचार्यो का कहना है कि कोविड को देखते हुए सीबीएसई का सही निर्णय है। ऑनलाइन पढ़ाई हुई है। 4 जून से परीक्षा होने से छात्रों को भी परीक्षा के लिए अतिरिक्त समय मिलेगा।

कोरोना ने पूरे विश्व में कहर बरपाया। कोरोना की जकड़न में आकर काफी लोगों ने अपनी जान भी गंवाई । कोरोेना से शिक्षा सत्र पूरी तरह लड़खड़ा गया। हालात ऐसे है कि आज भी स्कूलों में बच्चे नहीं है। कक्षा नौ से बारह तक के बच्चे भी स्कूलों में कम आ रहे हैं। डिग्री कालेजों में भी सीटें खाली रह गई। हालात ऐसे रहे कि शत प्रतिशत छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा से नहीं जोड़ा जा सका। वीएसडी पब्लिक स्कूल के प्रबंधक विनय चौधरी ने बताया कि कोविड की वजह से सीबीएसई परीक्षा लेट हुई है। बच्चों की सुरक्षा को लेकर सही निर्णय है। पिछले साल फरवरी में परीक्षा हुई थी। मार्च तक परीक्षा खत्म हो गई थी। चंद पेपर ही अप्रैल में होने थे। सलेब्स पूरा कराने के लिए पर्याप्त समय मिल जाएगा। कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान में रखकर सीटिंग प्लान होगा। माउंट लिट्रा जी स्कूल के प्रधानाचार्य अनुपम शर्मा ने बताया कि सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा चार मई से होगी। अगर कोरोना का कहर कम नहीं हुआ तो सोशल डिस्टेंसिंग के साथ परीक्षा कराई जाएगी। एक कक्ष में 12 बच्चे होंगे। प्रधानाचार्य अनुपम शर्मा ने बताया कि सीबीएसई का निर्णय सही है। बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई चल रही है। बच्चों में बोर्ड परीक्षा को लेकर डर रहता है। बच्चों को परीक्षा के लिए अब पर्याप्त समय मिलेगा। उन्होंने बताया कि आज हालात ऐसे है कि बच्चे काफी कम विद्यालय आ रहे हैं। बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Students will get preparation time for CBSE examinations due to late