DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बिजनौर › राम वनवास की लीला देख ग्रामीणों के साथ परिवहन मंत्री भी हुए भाव विभोर
बिजनौर

राम वनवास की लीला देख ग्रामीणों के साथ परिवहन मंत्री भी हुए भाव विभोर

हिन्दुस्तान टीम,बिजनौरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 06:25 PM
राम वनवास की लीला देख ग्रामीणों के साथ परिवहन मंत्री भी हुए भाव विभोर

क्षेत्र के गांव धारुपुर में आयोजित रामलीला में राम वनवास की लीला का मंचन किया गया। अपने पैतृक गांव में आयोजित रामलीला में राम वनवास की लीला देख परिवहन मंत्री अशोक कटारिया भी भाव विभोर हो गए। उन्होंने बिना किसी वीआईपी सुविधा के ग्रामीणों के बीच बैठकर ही रामलीला देखी।

बीती रात परिवहन मंत्री अशोक कटारिया, उनके साथ पंकज कटारिया व वरुण कटारिया, भतीजे व चाचा महेंद्र पाल सिंह आदि परिवार के सदस्य अपने पैतृक गांव से सटे धारुपुर की 70 वर्ष पुरानी रामलीला देखने पहुंचे। वहां उन्होंने वीआईपी के बजाय साधारण रूप से मंच के सामने जनता के बीच चारपाई पर बैठकर देखी। इस रामलीला से अपने बचपन की यदें ताजा करते हुए पुराने अभिनेताओं से भी मिले। इस पुरानी प्रसिद्ध आदर्श रामलीला की गरिमा को पूर्ववत कायम देख भावविभोर हो गए। अपने बचपन की यादगार इस रामलीला के लगाव को देखते हुए उन्होंने राम वनवास, राम खेवट संवाद तथा दशरथ मरण तक श्रद्धा व मनोभाव से रामलीला का मंचन देखा।

रामलीला मंचन देखने के बाद अपने सम्बोधन में अशोक कटारिया ने कहा कि धार्मिक आस्था की प्रतीक धारुपुर की रामलीला से वह बचपन से ही वैचारिक रूप से जुड़े हैं। अपने छात्रजीवन में प्रतिवर्ष देखता था। आज भी यहां के मंच कलाकरो ने पुराने आदर्शों को कायम रखा है यह बड़ी बात है। उन्होंने कहा कि वह यह मंत्री के रूप में नही बल्कि इस गांव के नागरिक के रूप में अपनो के बीच आये है। यहां से मेरी बचपन की यादें जुड़ी है, मैं सदैव यहां के हर सम्भव सहयोग के लिए तत्पर है। मैने यहाँ के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से भी कह दिया था कि इस प्रसिद्ध रामलीला में कोई ब्यवधान न हो। रामलीला मैदान में पहुचने पर कोमल सिंह लेखपाल , यशपाल सिंह,प्रवेंद्र सिंह व विनोद चौहान आदि ने स्वागत किया।

संबंधित खबरें