School robbery reveals caught four crooks - स्कूल में लूट का खुलासा, चार बदमाश पकड़े DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल में लूट का खुलासा, चार बदमाश पकड़े

स्कूल में लूट का खुलासा, चार बदमाश पकड़े

धामपुर में शेरकोट रोड स्थित सिमराह इंटरनेशनल स्कूल में हुई लूट का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। पुलिस ने नगीना के गांव नंदपुर निवासी तीन बदमाश तथा बढ़ापुर के हरवंशवाला निवासी चौथे बदमाश को गिरफ्तार कर चालान किया है। पुलिस के अनुसार इन बदमाशों ने शेरकोट में भी बाबूजी मैमोरियल स्कूल में लूट के अलावा रायपुर सादात में एक स्कूल से केसियो तथा स्कूल बस से बैट्रा चोरी करने की बात कबूली है। सभी बदमाशों का चालान कर दिया गया है। आरोपियों के कब्जे से कई अवैध तमंचे और दो बाइकों सहित लगभग साढ़े चौदह हजार कैश तथा तीन बैट्रे बरामद किए गए हैं। चोरी के बैट्रे खरीदने के आरोप में भी बढ़ापुर के एक अन्य व्यक्ति का भी चालान किया है।

पुलिस अधीक्षक संजीव त्यागी ने खुलासा करते हुए बताया, कि शेरकोट रोड स्थित सिमराह इंटरनेशनल स्कूल में विग्त 15 मई की रात को चार नकाबपोश बदमाशों ने जमकर कहर बरपाया था। बदमाश स्कूल से करीब अस्सी हजार रुपये की नकदी और हजारों रुपये के बैट्रे इंवर्टर और अन्य सामान लूटकर ले गए थे। इसके अलावा बदमाशों ने चौकीदार रशीद अहमद तथा बलकरन सिंह को लाठियों से पीटा था। इस पिटाई में रशीद अहमद को गंभीर चोटें आईं थी जिनका बाद में दिल्ली सफदरजंगल अस्पताल में इलाज चल रहा था। दो दिन पूर्व यहां रशीद अहमद की भी मौत हो गई। पुलिस गिरफ्त में नगीना के नंदपुर निवासी हुकुम सिंह पुत्र रामस्वरूप सैनी के अलावा इसी गांव के संजीव सैनी पुत्र रमेश सैनी, टीकम सैनी पुत्र शंकर सिंह आए हैं।

इसके अलावा बढ़ापुर के गांव हरवंशवाला निवासी मनोज पुत्र रामेश सिंह बंजारा को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार वारदात वाले दिन ये बदमाश पहले नगीना चौक पर एकत्रित हुए। इसके बाद नहर-नहर की पटरी-पटरी स्योहारा पहुंचे। यहां बुढ़नपुर के निकट एक स्कूल से बैट्रा उठाया। इसके उपरांत फिर से धामपुर पहुंचे और आरएसएम तिराहे के निकट चाय पी। बताया जाता है कि फिर इन लोगों का ध्यान अचानक सिमराह स्कूल की ओर पहुंचा। चारो रात में स्कूल के पीछे पहुंचे जबकि इन लोगों ने अपनी बाइक निकट ही एक ट्यूबवेल पर खड़ी कर दी। दीवार फांदकर घुसे और लिप्टिस तोड़ उनके डंडो से चौकीदारों को बुरी तरह पीटा।

कार्यालय के भीतर से कैश लूट लिया। इंवर्टर तथा जैनरेटर के बैट्रे लूट लिए। सीओ महावीर सिंह राजावत ने बताया कि शेरकोट स्थित बाबूजी मेमोरियल स्कूल में भी इन बदमाशों ने लूट करने की बात स्वीकारी है। चारों बदमाशों का अापराधिक इतिहास बताया जा रहा है। पुलिस टीम में निरीक्षक अपराध विनय कुमार के अलावा एसआई शहर ओमपाल सिंह, उपनिरीक्षक लोकेंद्रपाल, हेडकांस्टेबल अजीत, छोटे अहमद, कांस्टेबल उमेश कुमार, प्रदीप बिष्ठ तथा हेड कांस्टेबल चालक संजीव कुमार आदि रहे।

चोरी के बैट्रे खरीदने वाले का भी चालान

पुलिस के अनुसार इन बदमाशों से चोरी के बैट्रे खरीदने वाले बढ़ापुर के पक्का बाग निवासी अब्दुल कादिर पुत्र अली हुसैन का भी चालान कर दिया गया है। बताया जाता है कि बदमाशों ने बैट्रे चोरी कर पांच रुपये में अब्दुल कादिर को बेचा था।

स्योहारा में भी था हत्या का इरादा

सीओ धामपुर ने ये भी बताया कि पूछताछ के दौरान इन चारो बदमाशों ने कहा कि बुढ़नपुर के जिस स्कूल से उन्होंने बैट्रा चोरी किया, यहां चौकीदार और उसके साथ एक अन्य महिला को बुरी तरह मारने-पीटने का इरादा था। ऐसे में चौकीदार और महिला की मौत होने की संभावना जताई गई तो एक बदमाश ने ऐसा करने से इंकार कर दिया। जिस पर अन्य तीन बदमाश इन लोगों को बिना मारे-पीटे ही वहां से बैट्रा चोरी कर ले आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:School robbery reveals caught four crooks