DA Image
6 अगस्त, 2020|1:00|IST

अगली स्टोरी

नामांकन स्थल के बाहर से पकड़े युवक को पुलिस से छुड़ाया, रिपोर्ट

नामांकन स्थल के बाहर से पकड़े युवक को पुलिस से छुड़ाया, रिपोर्ट

जिपं अध्यक्ष पद के नामांकन के दौरान बाहर शांति भंग की आशंका देख कोतवाल ने जिस युवक को पकड़कर अपने हमराह पुलिसवालों के साथ थाने भेजा था, उसे 10-12 अज्ञात लोग शक्ति चौराहे के पास पुलिसवालों की गिरफ्त से छुड़ा ले गए। पुलिस ने ढूंढकर उसे फिर से पकड़ा।

पुलिस की ओर से इसमें एक नामजद और 10-12 अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 342 व 336 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है।कांस्टेबिल कपिल की ओर से दर्ज कराई रिपोर्ट के अनुसार वह, कांस्टेबिल भूदेव सिंह तथा चालक कांस्टेबिल हरेन्द्र सरकारी बुलेरो पर प्रभारी निरीक्षक फतेह सिंह के साथ ड्यूटी पर थे। जिला पंचायत अध्यक्ष नामांकन के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध के तहत एक बैरियर सिविल लाइन चौकी के पास और एक बैरियर समाजवादी पार्टी कार्यालय के पास लगाया गया था। एक बैरियर पुलिस लाइन तिराहे पर लगाया गया था। करीब दो बजे साकेन्द्र जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ नामांकन को आए थे और नामांकन के उपरांत सकुशल वापिस चले गए थे। करीब पौने तीन बजे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष उदयन वीरा अचानक तीन गाड़ियों के साथ कलक्ट्रेट के मेनगेट पर आए और बिना रोके एक गाड़ी को कलक्ट्रेट के अंदर प्रवेश करा दिया। दो गाड़ियों को रोका गया जो गाड़ी अंदर गयी थी, उसे भी रुको-रुको कहते हुए पुलिस बल ने तुरंत बाहर निकाल दिया। एक गाड़ी में उदयन वीरा, मोनिका पत्नी वीर सिंह व एक प्रस्तावक के साथ नामांकन कक्ष में पहुंच गए। इतने में ही कलक्ट्रेट के गेट पर साकेन्द्र पक्ष के कुछ लोग आ गए और कहने लगे, कि मोनिका वीर सिंह की पत्नी है और वीर सिंह उनके साथ हैं। उदयनवीरा उसकी पत्नी मोनिका को बहलाकर लाए हैं। इतने में वहां एक व्यक्ति विवेक पुत्र सोमवीर निवासी गांव भीकमपुर थाना छजलैट, मुरादाबाद शांति व्यवस्था भंग करने पर उतारू हो गया। इसी दौरान मोनिका का पति वीर सिंह भी आ गया और कहने लगा, कि उसकी पत्नी नामांकन कराने के लिए उसकी इच्छा के विरुद्ध गयी है। इस पर विवेक और भी आगबबूला हो गया। प्रभारी निरीक्षक ने उसे व अन्य हमराह पुलिसकर्मियों को विवेक को धारा 151 सीआरपीसी के तहत गिरफ्तार कराने के लिए निर्देशित किया। इस पर वे लोग सरकारी बुलेरो से विवेक को कलक्ट्रेट से थाने लेकर आ रहे थे, कि शक्ति चौक पर पहुंचते ही 10-12 अज्ञात व्यक्तियों ने उनकी गाड़ी को रुकवा लिया और सरकारी कार्य में बाधा डालते हुए विवेक को छुड़ाकर ले गए। इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को देने के साथ ही उन्होंने प्रयास करते हुए करीब सवा तीन बजे विवेक को पुन: गिरफ्तार कर लिया और फिर लेकर थाने पहुंचे। प्रभारी निरीक्षक फतेह सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए मामले में कांस्टेबिल कपिल की ओर से उक्त रिपोर्ट दर्ज बताई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rescued the young man caught from outside the Nomination site, report