DA Image
22 सितम्बर, 2020|7:30|IST

अगली स्टोरी

मजदूर दिवस पर कैंडल जलाकर भत्ते काटने के खिलाफ किया प्रदर्शन

मजदूर दिवस पर कैंडल जलाकर भत्ते काटने के खिलाफ किया प्रदर्शन

भत्तों में कटौती के विरोध में मजदूर दिवस पर कर्मचारियों ने जिला अस्पताल बिजनौर के परिसर में सोशल डिस्टेंस बनाते हुए दीपक एवं मोमबत्तियों को जलाकर प्रदर्शन किया और सरकार से अपने इस निर्णय को वापस लेने की मांग की।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के बैनर तले स्वास्थ्य विभाग व अन्य विभागों के सरकारी कर्मचारी शुक्रवार दोपहर 12 बजे जिला अस्पताल परिसर में एकत्र हुए। परिषद के जिलाध्यक्ष गजेन्द्र शर्मा ने कहा, कि सरकारी कर्मी कोरोनावायरस वैश्विक महामारी को रोकने, उपचार करने, सुरक्षा करने, सफाई व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्थाओं आदि को बनाने में, रात-दिन जी जान से अपने कत्र्तव्यों का पालन कर रहे हैं, कत्र्तव्यों का पालन करते हुए अपने प्राणों का बलिदान दे रहे है अपने परिवारों से दूर हंै। सरकार ने उनके मंहगाई भत्ता एवं अन्य प्रकार के भत्तो को काटकर मजाक किया है। सरकार का यह निर्णय इस समय विषम परिस्थितियों में बहुत ही सोचनीय एवं निंदनीय है। देश के सभी कर्मचारियों में इससे रोष व्याप्त है। विरोध प्रर्दशन में डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन के मंडल अध्यक्ष राजेश कुमार रवि, जयवीर सिंह (रोडवेज कर्मचारी संघ) राजपाल सिंह (वाहन चालक संघ,) अमित भटनागर (एक्स रे टेक्निशियन संघ) रजनी शर्मा , पुष्पा निगम, पद्मावती, शशि वाल्टर ( नर्सेज संघ)राम सिंह, प्रदीप बेलवाल, सुधीर कुमार, नरेश रूडोला, सतेन्द्र अमौली, मनोज शर्मा,आनंद प्रकाश, प्रदीप रावत, अनुराग कुमार (डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन बिजनौर) समेत विभिन्न कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Protest against cutting allowance by burning candles on Labor Day