DA Image
28 अक्तूबर, 2020|8:15|IST

अगली स्टोरी

सीएए के विरोध के भ्रम में पुलिस ने उखड़वाया शादी का टैंट

सीएए के विरोध के भ्रम में पुलिस ने उखड़वाया शादी का टैंट

सीएए के विरोध के भ्रम में पुलिस ने निकाह की तैयारियों के लिए लगाए गए टैंट को उखड़वा दिया। टैंट के अंदर रखे दहेज में जाने वाले सामान को भी वहां से हटवा दिया। सच्चाई पता लगने पर पुलिस बैकफुट पर आ गई और फिर से टैंट लगाने के लिए कहा, लेकिन परिजनों ने इनकार कर दिया।

शहर के मोहल्ला मिर्दगान में चार फरवरी को साबिर की बेटी का निकाह है। शनिवार को भात आना था। इसके लिए साबिर के घर के पास ही खाली पड़ी जमीन में टैंट लगाया गया था। बेटी की ससुराल जाने वाला दहेज का सामान भी इसी के अंदर रखा था। टैंट लगने की जानकारी मिलने पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस को लगा कि सीएए के विरोध प्रदर्शन के लिए टैंट लगवाया गया है। क्योंकि एक महिला ने सीएए के विरोध में धरना देने के लिए अनुमति मांगी थी, जिसमें मिर्दगान का ही जिक्र था। इसी भ्रम में पुलिस ने निकाह की तैयारियों के लिए लगाए गए टैंट को उखड़वा दिया। हालांकि परिजनों ने काफी मिन्नतें कीं, लेकिन कोई बात नहीं बनी। आखिरकार टैंट में रखा हुआ दहेज में जाने वाला सामान भी घर के अंदर रखना पड़ा। साबिर ने बताया कि चार फरवरी को मोदीनगर से उसकी बेटी की बारात आनी थी। आज भात का कार्यक्रम था। इसके लिए टेंट लगवाया गया था। बाद में पुलिस ने टैंट को लगाने के लिए कहा, लेकिन परिजनों ने फिर से लगाने के लिए इनकार कर दिया। - एक महिला ने मिर्दगान में प्रोटेस्ट करने की अनुमति मांगी थी। वहां पर एक टेंट लगा हुआ था। एहतियात के तौर पर उसे हटवा दिया गया।-आरसी शर्मा, प्रभारी निरीक्षक--------------------शाहीनबाग की तर्ज पर मोहल्ले में मांगी गई थी प्रोटेस्ट की अनुमति- पुलिस प्रशासन ने नहीं दी अनुमति- पुलिस ने बिना अनुमति के विरोध प्रदर्शन के लिए लगाने की आशंका में किया काम बिजनौर। संवाददातादिल्ली के शाहीनबाग की तर्ज पर बिजनौर के मोहल्ला मिर्दगान में प्रोटेस्ट की अनुमति मांगी गई थी। पुलिस प्रशासन ने कोई अनुमति नहीं दी। बिना अनुमति के विरोध प्रदर्शन की आशंका में ही पुलिस ने शादी का टैंट उखड़वा दिया। मेरठ में रहने वाली बिजनौर निवासी नाहिद फातमा ने सीएए के विरोध में प्रोटेस्ट करने की अनुमति मांगी थी। यह प्रार्थना पत्र पुलिस प्रशासन के पास पहुंचा तो तमाम शर्तों को पूरा नहीं करने के चलते अनुमति प्रदान नहीं की गई। अब मोहल्ला मिर्दगान में निकाह की तैयारियों को लेकर टेंट लगा हुआ था। पुलिस ने बिना अनुमति विरोध प्रदर्शन के भ्रम में उक्त टैंट को उखड़वा दिया। गौरतलब है कि सीएए के विरोध की आड़ में 20 दिसंबर को जिले में बवाल हो गया था। नहटौर में बवाल के दौरान दो लोग मारे गए थे। वहीं बिजनौर शहर में भी जमकर उपद्रव हुआ था। ऐसे में जिले में संवेदनशीलता बनी हुई है। उधर दिल्ली के शाहीनबाग की तर्ज पर प्रोटेस्ट की अनुमति मांगी गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Police dislodged wedding tent in confusion of CAA protest