ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश बिजनौरलापरवाही: स्कूली वाहन नाले में गिरा, छात्र-छात्राओं में मची चीखपुकार

लापरवाही: स्कूली वाहन नाले में गिरा, छात्र-छात्राओं में मची चीखपुकार

बिजनौर/स्योहारा। स्योहारा क्षेत्र में बच्चों को घर छोड़ने जा रहा स्कूली वाहन नाले में गिर गया। इससे वाहन सवार छात्र-छात्राओं में चीखपुकार मच गई।...

लापरवाही: स्कूली वाहन नाले में गिरा, छात्र-छात्राओं में मची चीखपुकार
हिन्दुस्तान टीम,बिजनौरFri, 23 Feb 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

बिजनौर/स्योहारा। स्योहारा क्षेत्र में बच्चों को घर छोड़ने जा रहा स्कूली वाहन नाले में गिर गया। इससे वाहन सवार छात्र-छात्राओं में चीखपुकार मच गई। स्थानीय लोगों ने बच्चों को निकाला और सीएचसी में भर्ती कराया। गनीमत रही कि बच्चे मामूली रूप से घायल हुए। इससे बड़ा हादसा होने से टल गया। चालक के मुताबिक बच्चों को उतारते समय किसी बच्चे ने गियर डाल दिया था।

जिले में स्कूली वाहनों से लगातार हादसे हो रहे है और बच्चों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। स्योहारा थाना क्षेत्र में शुक्रवार को स्कूली वाहन (टाटा मैजिक) का चालक बच्चों को घर छोड़ने जा रहा था। सीएचसी के पास चालक बच्चों को उतारने लगा। इसी दौरान क्षमता से अधिक बच्चे होने के कारण किसी बच्चे का हाथ या पैर गियर लीवर पर लग गया। इससे स्कूली वाहन तेजी से नाले में गिर गया। हादसे से वाहन सवार बच्चों में चीख-पुकार मच गई। स्थानीय लोगों ने आनन-फानन में बच्चों को बाहर निकाला और सीएचसी में भर्ती कराया। गनीमत रही कि किसी भी बच्चे को कोई खास चोट नहीं आई। प्राथमिक उपचार के बाद सभी को घर भेज दिया गया। हादसे के बाद जेसीबी से मैजिक को बाहर निकाला गया। हादसे में गांव अलाद्दीनपुर निवासी साहम (10) पुत्र नईम अहमद गंभीर घायल हुआ।

स्कूल प्रशासन ने झाड़ा पल्ला

जब स्कूल प्रशासन से हादसे की जानकारी की तो पल्ला झाड़ दिया। स्कूल प्रशासन का कहना था कि यह वाहन स्कूल में रजिस्टर्ड नहीं है। वहीं वाहन चालक वसीम अहमद का कहना है कि काफी समय से वाहन स्कूल में लगा हुआ है।

स्कूल में रजिस्टर्ड भी नहीं वाहन, रंग भी अलग था

परिजनों की मानें तो वाहन स्कूल में रजिस्टर्ड नहीं है। स्कूल वाहन का रंग भी सफेद है, जबकि रंग पीला होना चाहिए। वाहन पर खिड़की तक नहीं लगी है। वहीं जांच में पाया गया कि स्कूली वाहन का न तो इंश्योरेंस है और ना ही फिटनेस। फिर भी वाहन स्कूली बच्चों को लेकर सड़कों पर दौड़ रहा था।

पिछले साल हादसे में गई थी एक बच्ची की जान

पिछले साल भी स्योहारा में एक स्कूली वाहन अनियंत्रित होकर नहर में गिर गया था। हादसे में वाहन सवार एक बच्ची की मौत हो गई थी। आक्रोशित परिजनों ने थाने का घेराव किया था। सख्ती के बाद भी मानकों का उल्लंघन कर दौड़ रहे वाहनों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें