DA Image
30 नवंबर, 2020|10:19|IST

अगली स्टोरी

बदलते मौसम में टेंशन का सबब बने मामूली खांसी जुकाम और गले में खराश

default image

बदलते मौसम में मामूली खांसी-जुकाम और गले में खराश भी लोगों के लिए टेंशन का सबब बन रहे हैं। कोरोना महामारी के दौर में इन मौसमी लक्षणों से भी लोग परेशान हो रहे हैं और डॉक्टर को दिखाने के बजाय खुद इलाज करना पसंद कर रहे हैं।

गौरतलब है, कि मौसम के परिवर्तन के चलते हर बार र्सिदयों की शुरुआत के समय खांसी-जुकाम या गले में खराश हो जाने को लोग गंभीरता से नहीं लेते थे। यह खुद भी ठीक हो जाता था और कुछ लोग डॉक्टरों से दवाई भी लिखवा लेते थे, लेकिन इस बार खांसी-जुकाम या गले में खराश होने पर लोग तनाव में आ जा रहे हैं। इसका कारण कोरोना में भी मिलते-जुलते लक्षण होना है। कोरोना के केस फिलहाल अपने जिले में काफी कम निकल रहे हैं, फिर भी लोग जरा सा नजला जुकाम होने पर उसे लेकर टेंशन में आने से नहीं रुक रहे। ज्यादातर लोग डॉक्टरों से परामर्श लेने के बजाय काढ़ा, मसाले वाली चाय या खुद ही कोई एंटीएलर्जिक दवा आदि लेना पसंद कर रहे हैं। फिजीशियन डा. राहुल विश्नोई के अनुसार मौसम में परिवर्तन से एलर्जिक तथा कई अन्य कारणों से खांसी-जुकाम व गले में खराश आदि होना स्वाभाविक है। ऐसे में टेंशन कोई हल नहीं, चिकित्सक से परामर्श ले लेना चाहिए। हर लक्षण को कोराना भी न समझें, लेकिन कोरोना के प्रति लापरवाही भी बिल्कुल न बरतें। फिजिकल डिस्टेंस व मास्क का ध्यान जरूर रखें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Minor cough and cold sore throat due to tension in the changing season