DA Image
23 नवंबर, 2020|10:18|IST

अगली स्टोरी

दुकान बंद कर भाग गए 19 उर्वरक विक्रेताओं के लाइसेंस निलंबित

default image

डीएम के आदेश पर जिला कृषि अधिकारी डॉ अवधेश मिश्रा व उप कृषि निदेशक जेपी चौधरी ने टीम के साथ उर्वरक प्रतिष्ठानों पर छापेमारी कर जांच कीl जांच के दौरान19 उर्वरक विक्रेताओं के साइसेंस निलंबित किए गएlगुरुवार को बिजनौर तहसील सदर, चांदपुर, धामपुर व नगीना में उर्वरकों की दुकान पर छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान टीम को देख दुकान बंद कर भाग गए 19 दुकान स्वामियों के लाइसेंस निलंबित किए गए।

उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश एवं जिलाधिकारी रमाकांत पांडे के आदेशानुसार उप कृषि निदेशक जेपी चौधरी, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा. भूपेंद्र सिंह की टीम ने तहसील सदर व चांदपुर तथा जिला कृषि अधिकारी, डा. अवधेश ने तहसील धामपुर, नगीना व नजीबाबाद में उर्वरक के प्रतिष्ठानो पर छापामारी की। छापामार कार्यवाही के दौरान अभी लेखों की जांच, स्टाक का मिलान व उर्वरक वितरण व्यवस्था की जांच की गयी।

संदिग्ध उर्वरक स्टाक से गुणवत्ता परीक्षण हेतु नमूने भी लिए गये। उप कृषि निदेशक की टीम ने 15 उर्वरक प्रतिष्ठानों की चेकिंग कर छह नमूने लिये गये। जिला कृषि अधिकारी की टीम ने 32 उर्वरक प्रतिष्ठानों की चैकिंग कर 10 उर्वरक के नमूने लिये।

छापेमार कार्यवाही के दौरान उर्वरक प्रतिष्ठान बंद कर भाग जाने पर 19 उर्वरक विक्रेताओं के उर्वरक लाइसेंस निलंबित किये गये। निरीक्षण के दौरान क्षेत्र में उर्वरक की उपलब्धता सामान्य पाई गयी। कुछ उर्वरक विक्रेताओं द्वारा यूरिया की मांग से अवगत कराया गया। निरीक्षण के दौरान उर्वरकों की ओवर रेटिंग का कोई प्रकरण संज्ञान में नहीं आया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Licenses of 19 fertilizer vendors run away and shop suspended