DA Image
1 जुलाई, 2020|6:30|IST

अगली स्टोरी

बंदरों के खौफ से सहमा सरकारी खाद्यान्न का गोदाम

default image

नजीबाबाद क्षेत्र में बढ़ते जा रहे खुंखार बंदरों के खौफ से सरकारी खाद्यान्न का गोदाम भी बचा हुआ नहीं है। स्टेट फूड कॉरपोरेश के गोदाम पर भरे खाद्यान्न के कट्टों पर उत्पात मचा रहे बंदर गोदाम से संबंधित सभी लोगों के लिए आतंक का पर्याय बने हैं।

नगर के गली मौहल्लों और छतों पर ही नही मंडी समिति परिसर स्थित स्टेट फूड कॉरपोरेशन के गोदाम में भी भारी संख्या में मौजूद उत्पात मचा रहे बंदर न सिर्फ सरकारी खाद्यान्न की भरी तबाही कर रहे हैं बल्कि गोदाम पर सरकारी ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों और सरकारी कार्यों से आने वाले अन्य लोगों के लिए भी दहशत बनकर उभर रहे हैं। ज्ञात हो कि मंडी समिति स्थित एसएफसी के गोदाम पर नजीबाबाद तहसील के नगर और ग्रामीण क्षेत्रों में वितरण के लिए खाद्यान्न एकत्र होता है जो नगर और ग्रामीण क्षेत्र के उचित दर की दुकानों पर सरकारी योजना के अनुसार आंवटन के हिसाब से वितरित किया जाता है। जिला बिजनौर की सबसे बड़ी तहसील नजीबाबाद में शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के कुल 180 राशन विक्रेताओं को करीब 17000 कुन्तल खाद्यान्न हर माह निर्गत किया जाता है। जबकि कोरोना काल में निशुल्क वितरित होने के लिए आए खाद्यान्न की वजह से यह मात्रा और भी ज्यादा हो गई है। गोदाम में भरे इस भारी मात्रा में खाद्यान्न को यहा मौजूद सैकड़ो की तादाद में बंदर भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। इतना ही नहीं गोदाम पर मौजूद भारी तादाद में बंदर गोदाम पर खाद्यान्न का उठान करने आए राशन डीलरों पर भी अचानक हमला कर घायल कर देते हैं। हालात यह हैं कि गोदाम पर खाद्यान्न उठाने के लिए आने वाले राशन डीलर उत्पात मचा रहे खुखार बंदरों की वजह से डरने लगे हैं। बंदरों ने हाल ही में गोदाम पर कार्यरत अंसार पर भी उस समय अचानक हमला कर दिया था जब वह राशन डीलरों को खाद्यान्न निर्गत कर रहे थे। बड़ी मुश्किल से राशन डीलरों और गोदाम पर काम रहे श्रमिकों ने बंदरों को भगाकर अंसार की जान बचाई थी। सुशील आर्य, ब्रजराज किशोर सरीन, सुशील टांक, अनीता देवी व सुनीता आर्य आदि राशन डीलरों ने बताया कि गोदाम में भरे खाद्यान्न के कट्टों को काटने के बाद कुछ खाद्यान्न खाकर बाकी तबाह कर देने वाले बंदर राशन डीलरों के वाहनों भी अक्सर हमला कर देते हैं। जिससे गोदाम पर कार्यरत कर्मचारियों और श्रमिकों के लिए परेशानी का सबब बने बंदर राशन डीलरों के लिए भी भारी परेशानी बने हुए है।- गोदाम पर उत्पात मचाकर खाद्यान्न की तबाही करने वाले और कर्मचारियों, श्रमिकों और राशन डीलरों पर जानलेवा हमला करने वाले बंदरों की तादाद दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। इसमे कोई शक नहीं लेकिन बंदरों के आतंक से बचने के लिए इनकों पकड़वाने की मुहीम चलाने के लिए उपजिलाधिकारी को इनसे होने वाली परेशानी से अवगत करवाते हुए कहा गया है। शीघ्र ही बंदरों को पकड़वाकर सभी को परेशानी से निजात दिलाई जाएगी।-- बाल सिंह, गोदाम प्रभारी, एसएफसी, नजीबाबाद

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Government food warehouse endangered by the fear of monkeys