DA Image
2 दिसंबर, 2020|3:59|IST

अगली स्टोरी

छेड़खानी का विरोध करने पर कर दी थी बालिका की हत्या

छेड़खानी का विरोध करने पर कर दी थी बालिका की हत्या

आठ साल की बच्ची को जान से मारने वाला हत्यारोपी पड़ोसी किशोर ही निकला। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर चालान कर दिया है। आरोपी ने छेड़खानी का विरोध करने और भेद खुलने के डर से बच्ची की गला घोटकर हत्या कर दी थी।

रविवार को पुलिस अधीक्षक ने हत्याकांड का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि शेरकोट थाना क्षेत्र के गांव नूरपुर टीपरी निवासी आठ साल की बच्ची शुक्रवार शाम को लापता हो गई थी। ग्रामीण और पुलिस रात तक उसकी तलाश करते रहे। उसका कोई पता नहीं चल सका। शनिवार सुबह गांव से डेढ सौ मीटर दूर जंगल में उसका शव पड़ा मिला था। बच्ची के स्कार्फ से गला घोटकर हत्या की गई थी। एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने बताया कि बालिका की हत्या पड़ोस में रहने वाले एक किशोर ने की है। शनिवार शाम वह घर के बाहर खेल रही बच्ची को पास ही खड़े यूकेलिप्टिस के पेड़ों में ले गया और छेड़छाड़ करने लगा तभी बच्ची की तलाश के लिए ऐलान हो गया। उसकी तलाश शुरू कर दी। उधर, बच्ची विरोध करते हुए शिकायत करने की बात कहने लगी। इस पर आरोपी ने बच्ची का स्कार्फ से गला घोंट दिया। शव को रियासत के खेत के पास झाड़ियों में ले गया। कब्रिस्तान के रास्ते मुख्य रास्ते पर आ गया। इसके बाद गांव वालों के साथ साथ में बच्ची को तलाश करने लगा। जिससे गांव वालों को शक नहीं हो। कुछ देर बाद घर जाकर गांव में सो गया। मुखबिर की सूचना पर हत्यारोपी को पकड़ लिया। थाना प्रभारी अनुज तोमर ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे बाल संरक्षण ग्रह भेज दिया गया है। एसपी ने पुलिस टीम को दस हजार रुपये इनाम देने का एलान किया है। मां अपनी बेटी को याद कर बार बार रो रही है। घर में छोटे भाई बहन भी मृतका को याद कर रो रहे हैं।

मस्जिद का ऐलान सुनते ही घबरा गया था आरोपी

मस्जिद से बच्ची की गुमशुदगी के लिए ऐलान हुआ तो आरोपी घबरा गया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया की बालिका ने उससे कहा था कि वह इस बारे में अपने घरवालों को बताएगी। इसी बात से डरकर आरोपी ने बालिका की हत्या कर दी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Girl was murdered for opposing molestation