DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बिजनौर › कोयला संकट के चलते बिजनौर में भी बढ़ी बिजली कटौती
बिजनौर

कोयला संकट के चलते बिजनौर में भी बढ़ी बिजली कटौती

हिन्दुस्तान टीम,बिजनौरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 10:05 PM
कोयला संकट के चलते बिजनौर में भी बढ़ी बिजली कटौती

कोयला संकट के चलते बिजनौर में भी बिजली कटौती बढ़ी हुई नजर आ रही है। किश्तों में शहर में 2 से 3 घंटे तक तो देहात में 6 से 7 घंटे तक की कटौती हो रही है।

कोयले की कमी के चलते बिजली उत्पादन में आई कमी का असर अपने जिले में भी दिखाई दे रहा है। जिला मुख्यालय समेत शहरी इलाकों में जहां 24 घंटे बिजली सप्लाई के आदेश हैं, वहीं सुबह से लेकर शाम तक कभी भी एक-एक घंटे तक को बिजली गोल हो जाती है। क्षेत्रवासियों के अनुसार रोजाना किश्तों में दो से तीन घंटे तक की कटौती शहर में हो रही है। उधर देहात में कटौती यहां से अधिक हो रही है। देहात में 18 घंटे सप्लाई के आदेश हैं, लेकिन बिजली बामुश्किल 13 से 14 घंटे ही आ रही है। कई बार इससे अधिक समय भी हो जाता है। नलकूपों को तो 8 से 10 घंटे ही बिजली मिल रही बताई जाती है। क्षेत्र के लोगों के मुताबिक पहले पूछने पर फाल्ट के कारण बिजली गुल बता दी जाती थी, लेकिन आजकल बिजली वालों से फोन कर पूछने पर ऊपर से कटौती बताई जाती है। नाम न छापने की शर्त पर अफसर बताते हैं, कि प्रदेश में चल रहे बिजली संकट के चलते उपलब्धता में करीब 15 फीसदी की कमी आ गई है।

ऊपर से इमरजेंसी कटौती जरूर की जा रही है। सोमवार को स्थिति बेहतर रही है। मुख्यमंत्री ने भी समीक्षा बैठक ली है। इतना तय है, कि रात में कटौती नहीं होगी।

-एसएल अग्रवाल, अधीक्षण अभियंता

संबंधित खबरें