DA Image
30 नवंबर, 2020|11:27|IST

अगली स्टोरी

ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा 15 सितम्बर को

default image

जिलाधिकारी ने विकास खंड कोतवाली की ब्लॉक प्रमुख तृप्ति राजपूत के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की तिथि 15 सितम्बर निर्धारित की। क्षेत्र पंचायत की खुली बैठक में चर्चा होगी।

ब्लॉक प्रमुख पूनम चौधरी के खिलाफ प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद भाजपा नेता पंकज अग्रवाल की पत्नी बीडीसी सदस्य राखी अग्रवाल अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई थी। बढ़ापुर के भाजपा विधायक कुंवर सुशांत सिंह के समर्थन के चलते अक्टूबर 2018 में पूनम चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास हो गया था। उन्हें ब्लॉक प्रमुख के पद से हटा दिया था। तत्कालीन डीएम ने एक सदस्य समिति के तौर पर राखी अग्रवाल को वित्तीय अधिकार सौंप दिए थे। राखी अग्रवाल कार्यवाहक ब्लॉक प्रमुख बन गई थी।जुलाई 2019 में ब्लॉक प्रमुख के पद के लिए पुनः चुनाव हुआ। जिसमें तृप्ति राजपूत चुनाव लड़ निर्वाचित हुई थी। क्षेत्र पंचायत सदस्यों(बीडीसी सदस्य)की कुल संख्या 187 है। लेकिन दो बीडीसी सदस्यों की मृत्यु हो चुकी है।वर्तमान में 185 बीडीसी सदस्य हैं।तृप्ति राजपूत ने 28 जुलाई 2019 को ब्लाक कोतवाली के ब्लॉक प्रमुख पद की शपथ ग्रहण की थी।लेकिन ठीक एक साल बाद गत 21 अगस्त को तृप्ति राजपूत के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए 108 ने क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने जिलाधिकारी को शपथ पत्र देकर तिथि की मांग की थी। जिलाधिकारी रमाकांत पांडे ने ब्लॉक प्रमुख तृप्ति राजपूत के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए लिये गये क्षेत्र पंचायत सदस्यों के शपथ पत्र को गम्भीरता से लेते हुए उस पर चर्चा के लिए आगामी 15 सितम्बर की तिथि निर्धारित की है। ब्लाक प्रमुख में तृप्ति राजपूत के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की तिथि नियत होने के बाद ब्लॉक प्रमुख के विरुद्ध शपथ पत्र देने वाले खेमें हलचल मच गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Discussion on no-confidence motion against block chief on 15 September