Declaration of up to four vacancies in schools in the fierce heat - भीषण गर्मी में स्कूलों में चार तक का अवकाश घोषित DA Image
18 नबम्बर, 2019|11:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भीषण गर्मी में स्कूलों में चार तक का अवकाश घोषित

भयंकर गर्मी को देखते हुए डीएम सुजीत कुमार के निर्देश पर जिले के समस्त आईसीएसई, सीबीएसई, राजकीय, परिषदीय, सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त स्कूलों में कक्षा एक से लेकर आठ तक के छात्र, छात्राओं का 4 जुलाई तक अवकाश रहेगा। अध्यापक यथावत विद्यालय में उपस्थित रहेंगे।

गर्मी ने सालों के रिकॉर्ड ध्वस्त कर डाले हैं। आसमान से मानो आग बरस रही हो। छोटे बच्चे हों या फिर बड़े, इस गर्मी से सभी बेहाल हो उठे हैं। एक जुलाई से सभी स्कूल भी खुल गए थे लेकिन अभिभावकों को अपने नन्हें मुन्ने बच्चों की चिंता सताने लगी थी। इस बाबत अभिभावकों की चिंता और गर्मी में बच्चों की तमाम समस्याओं को लेकर हिन्दुस्तान ने सोमवार के अंक में बढ़ सकती हैं स्कूलों की छुट्टियां शीर्षक नाम से समाचार भी प्रकाशित किया था।खैर, अखबार ने बच्चों की समस्याओं को जिलाधिकारी के समक्ष उठाया और इस बाबत समाचार प्रकाशित किया तो जिला प्रशासन ने भी समस्या को समझा और स्वागतोग्य कदम उठाया। कक्षा एक से आठ तक की कक्षाओं को 4 जुलाई तक बंद किए जाने के आदेश जारी किए। अभिभावक अमित कुमार, रोहित, शेखर आदि ने डीएम के इस फैसले का स्वागत किया है।हमारी याद में पहली बार बढ़ी हैं छुट्टियांडीएम ने गर्मी के मद्देनजर बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए भले ही कक्षा एक से आठ तक की कक्षाओं को चार जुलाई तक बंद किए जाने का आदेश दिया हो। लेकिन उनका ये आदेश भी संभवत: इस जिले के लिए एक तारीख बन गया है। प्रधानाचार्या आशा त्यागी कहती हैं कि उनकी याद में कभी ऐसा नहीं हुआ है कि गर्मी को देखते हुए समर वैकेशंस को आगे बढ़ाया गया हो। पूर्व शिक्षक यशपाल तुली कहते हैं 54 वर्ष के उनके शिक्षण कार्यकाल में कभी गर्मी की छुट्टियां नहीं बढ़ाई गई हैं। कहते हैं कि गर्मी का यही हाल रहा तो आगे भी छुट्टियां बढ़ाई जानी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Declaration of up to four vacancies in schools in the fierce heat